अब बीजेपी से चंद्रबाबू नायडू भी रूठे

अखिलेश अखिल


लखनऊ ट्रिब्यून दिल्ली ब्यूरो: अमरावती आंध्र प्रदेश की राजधानी अपने नए स्टाइल की बन रही है। स्मार्ट और पूरी तरह से प्लांड। कुछ सालों मेंअमरावती की गणना सबसे मॉडर्न शहरों में होने वाली है। शहर को बसाने में मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू कोई कसर नहीं छोड़ रहे। लेकिन उनकी राजनीति अभी बुझी बुझी सी है। बीजेपी के साथ उनकी पटरी ठीक से नहीं बैठ रही है। अमरावती की राजनीति तो बहुत कुछ कह रही है लेकिन सारी बातें अभी इशारों-इशारों में चल रही है। जब से शिव सेना ने बीजेपी से अलग होने का ऐलान किया है तब से नायडू भी कुछ इसी तरह का फैसला करना चाहते हैं लेकिन अभी उन्हें वक्त का इन्तजार है।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बाद आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू भी अब भाजपा से नाराज हो गए हैं। हालांकि दोस्ती का हवाला देते हुए उन्होंने भाजपा के साथ विवाद पर बोलने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि वह इस बारे में तब बोलेंगे, जब भगवा दल गठबंधन जारी रखना नहीं चाहेगा। नायडू ने अपनी सरकार के खिलाफ पिछले कुछ दिनों में भाजपा के कुछ नेताओं द्वारा की गई टिप्पणियों पर एक सवाल के जवाब में यह बात कही।

उन्होंने कहा कि मुद्दे के बारे में सोचना भाजपा नेताओं पर निर्भर है। उन्होंने कहा कि मैं मित्रपक्ष धर्म के चलते कुछ नहीं कहूंगा। उनके नेतृत्व को इस बारे में सोचना चाहिए। मैं बखूबी अपने लोगों को नियंत्रित कर रहा हूं और मैं उन्हें नियंत्रित करूंगा। मैंने यहां तक कि अपने एक नेता को चेतावनी दी, जब उन्होंने तदेपल्लीगुदेम मुद्दा ( राज्य में भाजपा से मंत्री पी माणिकयाला राव और स्थानीय तेदपा नेताओं के बीच एक विवाद से जुड़ा) उठाने की कोशिश की। भाजपा नायडू सरकार का हिस्सा है और कैबिनेट में उसके दो मंत्री भी हैं।

लेकिन मामला यहीं तक नहीं है। टीडीपी के कई ऐसे नेता है जो बीजेपी के साथ मिलकर राजनीति नहीं करना चाहते। बीजेपी उन्हें नहीं भा रही है। नायडू को भी यह सब पता है लेकिन मज़बूरी भी कम नहीं। माना तो यहां तक जा रहा है कि अगर नायडू जल्द कोई फैसला नहीं करेंगे तो पार्टी से कुछ विधायक बहार जाकर अपनी राजनीति किसी और के साथ भी कर सकते हैं। नायडू वक्त के इन्तजार में हैं। देखना होगा कि नायडू की अगली राजनीती कहाँ तक जाती है और बीजेपी के साथ वह कहाँ तक टिक पाती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper