आजमगढ़ में दलितों के साथ हिंसा पर सीएम योगी सख्त, कोतवाल निलंबित, 12 गिरफ्तार

आजमगढ़: उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के महराजगंज कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सिकंदरपुर आइमा गांव में छेड़खानी को लेकर दलित बस्ती में हुए हमले के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्त रूख अख्तियार करते हुए पुलिस अधीक्षक को लताड़ लगाई है। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने महराजगंज कोतवाल को जहां ससपेंड कर दिया, वही पुलिस ने घटना में शामिल एक दर्जन आरोपियों को अरेस्ट कर लिया है।

वहीं सात फरार आरोपियों के खिलाफ 25-25 हजार रूपये का इनाम घोषित किया गया है। पुलिस की चार टीमें फरार आरोपियों के संभावित ठीकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी भी कर रही है। महाराजगंज कोतवाली क्षेत्र के सिकंदरपुर आइमा गांव में एक ट्यूबवेल पर गांव के ही एक समुदाय विशेष के युवक आकर बैठा करते थे। बुधवार की देर शाम दलित बस्ती की लड़कियों के साथ युवकों ने छेड़छाड़ कर दी। जिसके बाद दलित बस्ती के लोगों ने जब इसका विरोध किया तो समुदाय विशेष के लोगों ने इकठ्ठा होकर लाठी-डंडे और धारदार हथियार से धावा बोल दिया।

इस मामले में दलित बस्ती के एक दर्जन लोग जख्मी हो गये थे। इस घटना में दलित बस्ती के लोगों ने गुरूवार को नौ नामजद और दस अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया था। लेकिन स्थानीय थाने की पुलिस ने इस मामले में आरोपियों को पकड़ने में लापरवाही बरती। घटना संज्ञान में आते ही सीएम योगी ने पुलिस अधीक्षक को कड़ी फटकार लगाई और आरोपियों को अरेस्ट कर उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिये।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper