एक पुलिस ऐसी भी, जो हाइवे पर ट्रकों को रोक-रोककर करा रही चाय नाश्ता

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के हाईवे पर अब पुलिस एक-एक ट्रक और कार को रोक रही है, लेकिन चालान काटने के लिए नहीं बल्कि चाय-पानी कराने के लिए। ये पश्चिम बंगाल पुलिस की नई पहल है। इसके तहत आधी रात से लेकर सुबह होने तक जो भी कार या ट्रक हाईवे से गुजरेंगे, उन्हें चेकिंग पॉइंट पर तैनात पुलिस रोकेगी। मुंह धोने और पीने के लिए पानी और साथ में चाय भी देगी, ताकि रास्ते में ड्राइवर को नींद ना जाए। नेशनल हाईवे-6, 34,35, 116 और 117 पर पुलिस की ओर से की गई ये पहल पूरे जाड़े के मौसम तक जारी रहेगी।

दरअसल सर्दी की रातों में गाड़ी चलाते हुए ड्राइवर को झपकी आने की घटनाएं काफी बढ़ जाती हैं और इससे हादसे भी होते हैं। इसी को रोकने के लिए पुलिस ने ये तरकीब निकाली है। ये व्यवस्था 12-13 दिसंबर से शुरू की गई थी, जो अब तमाम हाईवे पर चालू है। चाय पिलाने के साथ ही पुलिस ड्रिंक एंड ड्राइव के मामलों पर पर भी नजर रखेगी।

इसे भी पढ़िए: गुजरात चुनाव में हार के बाद हार्दिक पटेल को सताया डर, ट्वीट कर कही ये बड़ी बात

सेफ ड्राइविंग को बढ़ावा देने के लिए बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी लगातार कैम्पेन करती रही हैं। 2016 में प. बंगाल में कुल 13,580 सड़क हादसों में 6,544 लोगों की मौत हुई थी। 2015 में भी 13,208 सड़क हादसों में 6,234 जान गई थीं। इसके बाद से ही सड़क हादसे रोकने के लिए तरह-तरह के उपाय किए जा रहे हैं।

चाय-पानी देने के व्यवस्था भी इसी का हिस्सा है। मिदनापुर पूर्व के एसपी आलोक राजोरिया कहते हैं- ‘रात में गाड़ी चलाते हुए झपकी आना सामान्य बात है। हम चाहते हैं कि संवेदनशील तरीके से एक जागरुकता अभियान चलाया जाए, जिससे ड्राइवर्स में सतर्कता बढ़े। रात में ड्राइवर रुककर मुंह धो सकेंगे, पानी और चाय पी सकेंगे। हमें यकीन है कि सड़क हादसे रोकने के लिए ये प्रयास कारगर साबित होंगे।’

वहीं बांकुड़ा के एसपी सुखेंदु हीरा ने बताया कि इसके लिए पुलिस को अलग से कोई व्यवस्था करने की जरूरत नहीं पड़ी। चेकिंग पॉइंट पर जो पुलिसकर्मी तैनात रहते हैं, वे ही इस योजना को संचालित करेंगे। जरूरत पड़ने पर कुछ पॉइंट पर पुलिसकर्मियों की संख्या जरूर बढ़ाई जा सकती है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper