कोर्ट पहुंची गहलोत बनाम पायलट की लड़ाई, नोटिस के खिलाफ दायर करेगा पायलट गुट

जयपुर: राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच तलवारें खींच गई है. कांग्रेस के चीफ व्हिप महेश जोशी की शिकायत पर स्पीकर सीपी जोशी ने सचिन पायलट और उनके बागी विधायकों के खिलाफ नोटिस जारी किया. अब पायलट गुट इस नोटिस के खिलाफ राजस्थान हाई कोर्ट में याचिका दायर करेगी.

दरअसल, सचिन पायलट के बगावती रुख के बाद कांग्रेस ने दो बार विधायक दल की बैठक बुलाई थी. इस बैठक के लिए बकायदा व्हिप जारी किया गया था. बावजूद इसके सचिन पायलट और उनके साथ मानेसर में ठहरे बागी विधायकों ने बैठक में हिस्सा नहीं लिया. इसके बाद कांग्रेस के चीफ व्हिप महेश जोशी ने स्पीकर सीपी जोशी से शिकायत की.

चीफ व्हिप महेश जोशी ने बागी विधायकों की सदस्यता खत्म करने की याचिका लगाई है. इस पर स्पीकर सीपी जोशी ने सचिन पायलट समेत सभी बागी विधायकों को नोटिस जारी किया है और उनसे 17 जुलाई की दोपहर 1 बजे तक जवाब मांगा है. जवाब मिलने के बाद स्पीकर आगे की कार्रवाई करेंगे.

नोटिस पर सचिन पायलट गुट का कहना है कि हमने व्हिप का उल्लंघन नहीं किया है. व्हिप उस समय लागू होता है, जब विधानसभा सत्र चल रहा हो. इस समय विधानसभा का सत्र नहीं चल रहा है, ऐसे में व्हिप का कोई मतलब नहीं है. सचिन पायलट गुट कानूनी विकल्प भी देख रहा था. अब फैसला लिया गया है कि हाई कोर्ट में याचिका दायर की जाएगी.

यह नोटिस सचिन पायलट, रमेश मीणा, इंद्राज गुर्जर, गजराज खटाना, राकेश पारीक, मुरारी मीणा, पी.अर.मीणा, सुरेश मोदी, भंवर लाल शर्मा, वेदप्रकाश सोलंकी, मुकेश भाकर, रामनिवास गावड़िया, हरीश मीणा, बृजेन्द्र ओला, हेमाराम चौधरी, विश्वेन्द्र सिंह, अमर सिंह, दीपेंद्र सिंह और गजेंद्र शक्तावत को भेजा गया है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper