गाजियाबाद में पांच साल की लापता मासूम का शव मिलने से मची सनसनी

गाजियाबाद: लोनी कोतवाली क्षेत्र की स्थित अलवी नगर, नसबन्दी कालोनी में मंगलवार की तड़के एक पांच वर्षीय मासूम बच्ची का शव मिलने से सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। बच्ची पहली कक्षा की छात्रा थी।

मूल रुप से बिजनौर के नूरपुर के रहने वाला हैदर करीब पांच वर्षों से लोनी कोतवाली क्षेत्र की अल्वी नगर, नसबन्दी कालोनी में परिवार के साथ रह रहता है। हैदर दिल्ली के मुस्तफाबाद में होटल पर रोटी बनाने का कार्य करता है।
हैदर ने बताया कि उसकी पांच वर्षीय मासूम बेटी फिजा पहली क्लास की छात्रा थी। वह कालोनी में ही एक घर में ट्यूशन पढ़ने जाती थी। प्रतिदिन की तरह सोमवार की शाम को भी ट्यूशन पढ़ने गई थी। फिजा करीब शाम सात बजे ट्यूशन से घर वापस आ गई थी। लेकिन थोड़ी देर में ही वह कहने लगी कि भैया जी बुला रहे हैं। थोड़ी देर बाद ही वह घर से बाहर चली गई।

हैदर ने बताया कि फिजा देर रात तक भी वापस नहीं आयी। उसे काफी तलाशा लेकिन कुछ पता नहीं चला। देर रात ही परिजनों ने मामले की सूचना स्थानीय पुलिस को दी। आज तड़के जब हैदर कुवा मस्जिद में नमाज अदा करने जा रहे थे तो वहीं पास में रेत के ढेर पर फिजा का शव पड़ा मिला। आनन-फानन में मामले की सूचना पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्ची के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पुलिस मामले की जांच मे जुट गई है।

पुलिस का कहना है कि जिस वक्त मासूम फिजा ट्यूशन पढ़ कर घर वापस लौटी तो उसने अपने पिता हैदर से कहा था कि “भैया जी” बुला रहे हैं। परिजनों के अनुसार वह भैया जी ट्यूटर को भी बोलती थी। तो फिर जिस भैया जी ने उसे बुलाया था वह भैया जी कौन था? कहीं न कहीं इस मर्डर की कड़ी उस भैया जी से जरुर जुड़ी हुई है। इसके अलावा पुलिस अन्य बिंदुओं पर भी जांच कर रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper