जम्मू-कश्मीर में 35000 कर्मचारियों की भर्ती जल्द

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में डॉक्टरों, पशुचिकित्सकों और पंचायत सहायकों के कुल 10 हजार पदों पर भर्ती की जा रही है, जबकि आगामी महीनों में विभिन्न विभागों में 25 हजार लोगों की भर्ती करने की योजना है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। यानी कुल 35000 जवानों को रोजगार मिलने जा रहा है। अनुच्छेद 370 के प्रावधानों के निरस्त और जम्मू कश्मीर पुनर्गठन अधिनियम के क्रियान्वयन के बाद से पश्चिम पाकिस्तान के कुल 20,000 शरणार्थियों को केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में नागरिकता प्रदान की गई और प्रति परिवार साढ़े पांच लाख की वित्तीय सहायता पहुंचाई गई।

अधिकारियों के मुताबिक करीब 10,000 सफाई कर्मचारियों को शिक्षा और नौकरियों जैसे सभी अधिकारों एवं विशेषाधिकारों के साथ वैध बाशिंदे होने के प्रमाणपत्र मिले। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि जम्मू कश्मीर सरकार ने बड़ा और त्वरित भर्ती अभियान शुरू किया है। पहले चरण में 10,000 रिक्तियां भरी जा रही हैं, जबकि 25,000 और भर्तियों की योजना है।

पिछले साल पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी करने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों जम्मू- कश्मीर और लद्दाख में बांटने के बाद इस केंद्र शासित प्रदेश ने यह पहल की है। अधिकारी के अनुसार, जो रिक्तियां भरी जा रही हैं, वे डॉक्टरों, पशुचिकित्सकों, पंचायत लेखा सहायकों और चतुर्थवर्गीय पदों के लिए हैं। उनमें ज्यादातर पदों के लिए साक्षात्कार समाप्त कर दिया गया है। उन्हें बस लिखित परीक्षा के परिणाम के आधार पर भरा जाएगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper