जम्मू कश्मीर सरकार के सभी बीजेपी मंत्री अचानक दिल्ली तलब

दिल्ली ब्यूरो: जम्मू कश्मीर के सभी बीजेपी मंत्री आज पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से दिल्ली में मिलेंगे। खबर के मुताबिक़, पार्टी अध्यक्ष शाह ने ही सभी बीजेपी मंत्रियों को दिल्ली बुलाया है। हालांकि यह बैठक अचानक क्यों बुलाई गयी है इसका खुलासा नहीं हो पाया है लेकिन माना जा रहा है कि रमजान के बाद फिर से युद्धविराम पर लगी रोक को हटाने के बाद बीजेपी और पीडीपी के बीच बढ़ती दूरियों को कैसे पाटा जाय ,इस बारे में शाह बीजेपी मंत्रियों को कुछ मंत्रणा दे सकते हैं। बता दें कि इधर जम्मू कश्मीर में कई आतंकी घटनाएं हो गयी है जिसके बाद युध्हवीराम को हटाकर सेना की तरफ से ऑलआउट ऑपरेशन शुरू किया गया है।

खबरों के मुताबिक महबूबा चाहती थीं कि युद्धविराम को जारी रखा जाए जबकि केंद्र रमजान के दौरान हुईं हिंसक घटनाओं के चलते इसके खिलाफ था। बीते शनिवार को ईद के बाद केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को सैन्य अभियान फिर से शुरू करने का निर्देश दिया गया है।केंद्र सरकार ने रमजान के दौरान इसलिए युद्धविराम की घोषणा की थी कि इस पाक महीने में जम्मू-कश्मीर में शांति का माहौल रहे। लेकिन इस दौरान भी घाटी में हिंसा जारी रही.

सेना और आम नागरिकों पर ग्रेनेड हमले, ‘राइजिंग कश्मीर’ अखबार के संपादक शुजात बुखारी की हत्या और सेना के जवान औरंगजेब का अपहरण और फिर हत्या जैसी घटनाओं ने घाटी में शांति नहीं रहने दी। इस पर गृह मंत्री का कहना था, ‘उम्मीद थी कि सभी इस कदम (युद्धविराम) में साथ देंगे। सुरक्षाबलों ने तो सख्ती से नियम का पालन करते हुए उदाहरण पेश किया, लेकिन आतंकवादी नागरिकों और सुरक्षाबलों पर हमले करते रहे।’

बता दें कि जम्मू-कश्मीर में जब से पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार बनी है तब से दोनों पार्टियों में टकराव देखने को मिलता रहा है। अलग-अलग मौकों पर दोनों गठबंधन सहयोगियों में मतभेद साफ तौर पर दिखाई दिए। महबूबा मुफ्ती का जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को विशेष शक्तियां प्रदान करने वाले कानून (आफ्सपा) को हटाने की मांग करना, पीडीपी का अलगावादियों से बातचीत का वादा करना और जीएसटी लागू करने के मुद्दे पर यह टकराव साफ देखने को मिला।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper