डबल र्मडर के मुख्य आरोपित ने खुद को गोली से उड़ाया

लखनऊ: ठाकुरगंज में दो सगे भाइयों अरमान गाजी व इमरान गाजी की हत्या में वांटेड मुख्य आरोपित शिवम सिंह ने बुधवार रात गोमतीनगर के विरामखण्ड-5 स्थित मकान में गोली मारकर खुद को उड़ा लिया। शिवम पर 15 हजार का इनाम घोषित था। पुलिस ने मौके से दूसरे इनामी चिन्ना उर्फ उमेश गौतम को गिरफ्तार कर लिया है। यह घटना उस वक्त हुई जब सर्विलांस की मदद से क्राइम ब्रांच की टीम मौके पर पहुंची थी। पुलिस ने जैसे ही मकान का दरवाजा खटखटाया, अंदर से गोली चलने की आवाज आयी। पुलिस अंदर गयी तो खून से लथपथ शिवम जमीन पर पड़ा था। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त तमंचे को कब्जे में ले लिया है। जानकारी मिलते ही आईजी रेंज सुजीत पाण्डेय, एसएसपी कलानिधि नैथानी समेत तमाम अफसर मौके पर पहुंचे और पड़ताल की।

पुलिस मकान के प्रथम तल को किराए पर रहने वाले भानू को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।बताते चलें कि बीते बुधवार (3 अक्टूबर) की देर रात ठाकुरगंज के मुसाहिबगंज स्थित प्यारे टेण्ट हाउस के सामने अरमान गाजी व इमरान गाजी की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। उक्त मामले में चश्मदीद छोटे भाई रेहान की तहरीर पर शिवम सिंह, उमेश गौतम उर्फ चिन्ना, साहिल उर्फ छोटू व अज्ञात के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज की गयी थी। पुलिस ने उक्त मामले में गुरुवार तड़के ही आरोपित साहिल को गिरफ्तार कर लिया था। कोर्ट से फरार आरोपित शिवम सिंह व उमेश गौतम उर्फ चिन्ना का वारण्ट मिलने के बाद एसएसपी ने दोनों पर 15-15 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि बुधवार रात क्राइम ब्रांच की सर्विलांस टीम को सूचना मिली कि दोनों आरोपित गोमतीनगर के विरामखण्ड-5/591 मकान नम्बर पर पहुंची। पुलिस ने मकान की घेराबंदी की। मकान के ग्राउण्ड तल पर रहने वाले विक्की व उसके परिजनों से पुलिस ने पूछताछ की।

दोहरे हत्याकांड के आरोपी शिवम ने खुद को मारी गोली, मौत

पता चला कि ऊपर वाले हिस्से में भी किराएदार भानू पण्डित रहते हैं।इस जानकारी पर क्राइम ब्रांच की टीम ने पहले तल स्थित पोर्शन का दरवाजा खटखटाया। इसी दौरान शिवम ने खिड़की से नीचे झांककर देखा तो पुलिस मौजूद थी। यह देख वह कमरे में गया और तमंचा निकालकर सिर पर गोली मार दी। गोली चलने की आवाज सुनते ही पुलिस ने दरवाजा खटखटाया, तभी शोर मचाते हुए उमेश उर्फ चिन्ना ने दरवाजा खोल दिया। उमेश को पकड़कर पुलिस अंदर गयी तो फर्श पर खून से लथपथ शिवम का शव पड़ा था। एसपी उत्तरी विक्रांत वीर, एएसपी पश्चिम विकास चन्द्र त्रिपाठी, सीओ चौक डीपी तिवारी, सीओ गोमतीनगर चक्रेश मिश्रा, सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्रा व सीओ एलआईयू राधेश्याम राय मौके पर पहुंचे।

एसएसपी का कहना है कि पड़ताल में सामने आया कि आरोपित शिवम व उमेश पिछले दो-तीन दिन से यहां डेरा डाले हुए थे। आरोपित जिस कमरे में शरण लिए थे, वह भानू पण्डित का है। फिलहाल उसे व चिन्ना से पूछताछ की जा रही है। उनका कहना है कि मकान राम सिंह का बताया जा रहा है। उनसे भी पूछताछ की जाएगी कि उन्होंने किराएदार को घर देने से पहले सत्यापन कराया था या नहीं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper