ढोंगी बाबा ने शनि का प्रकोप बता बुजुर्ग महिला से लाखों ठगे

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के चिनहट इलाके में मंदिर दर्शन कर लौट रही बुजुर्ग महिला को ढोंगी बाबा बनकर दो बदमाशों ने रोका। बदमाशों ने शनि देव के प्रकोप का भय दिखाकर उसे झांसे में लिया और घर से जेवर व नकदी लाने को कहा। ठगी से अंजान महिला जेवर व नकदी समेत करीब दो लाख का माल लेकर बाबा के पास पहुंची। इसके बाद उचक्के 20 कदम चलने का झांसा देकर माल लेकर फरार हो गये।

कंट्रोल रूम पर सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और पड़ताल की।न्यू गुलिस्ता कालोनी में बुजुर्ग माधुरी गुप्ता परिवार के साथ रहती हैं। नवरात्रि पर बुधवार दोपहर करीब साढ़े बारह बजे माधुरी छोहरिया माता मंदिर में दर्शन कर वापस आ रही थी। घर से कुछ दूरी पर कस्बा स्थित सरकारी अस्पताल के पास दो युवकों ने उनका रास्ता रोका। दोनों ने खुद को साधू बताते हुए परिवार व पोते के बारे में बात की। यह सुनकर माधुरी को यकीन हो गया कि ये कोई फर्जी बाबा नहीं हैं।

लखनऊ में डेंगू से एक की मौत, छह नए मरीज मिले

इसके बाद ढोंगी बाबा ने कहा कि बेटी तुमपर शनि का प्रकोप है। प्रकोप को दूर करने की बात कहते हुए ढोंगी ने जेवर व नकदी लेकर आने को कहा। परिवार की दिक्कतों को दूर करने के लिए माधुरी घर गयी और आलमारी में रखे सोने की चार चूड़ी, हार, चार अंगूठी व करीब 20 हजार रुपये लेकर वापस आयीं। बाबा ने जेवर व नकदी पर फूंकने के बाद कहा कि बेटी अब भगवान को याद कर हाथ जोड़ते हुए 20 कदम चलो।माधुरी ने 20 कदम चलने के बाद पीछे मुड़कर देखा तो दोनों ढोंगी बाबा गायब थे।

यह देख उनके पैरों तले जमीन खिसक गयी। उसने इधर-उधर देखा लेकिन बदमाश नहीं दिखे। वह भागकर घर पहुंची और आपबीती घरवालों को बतायी। माधुरी परिजनों के साथ चिनहट कोतवाली पहुंची। उसका कहना है कि जेवर की कीमत करीब पौने दो लाख रुपये है। इंस्पेक्टर राजकुमार सिंह ने बताया कि घटनास्थल के आसपास के व्यवसायिक प्रतिष्ठान के सीसी कैमरे खंगाले जा रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper