नागरिकता कानून पर सुलग रहा असम, अब जापान के PM शिंजो आबे रद्द कर सकते हैं भारत दौरा

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर असम में हिंसक विरोध प्रदर्शन जारी है। इस बीच जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की भारत यात्रा रद्द हो सकती है। यह दावा जीजी प्रेस रिपोर्ट में किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार, इस बीच जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे भारत दौरा सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए रद्द कर सकते हैं। आबे रविवार को भारत पहुंचनेवाले हैं और उन्हें गुवाहाटी में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ शिखर वार्ता में हिस्सा लेना है।

पिछले सप्ताह विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जापान के उनके समकक्ष शिंजो आबे के बीच 15 से 17 दिसंबर के बीच शिखर वार्ता होगी। उनके बीच होने वाली शिखर मुलाकात की तैयारी गुवाहाटी में चल रही है। पीएम नरेंद्र मोदी और जापान के पीएम शिंजो आबे इस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले थे। नागरिकता कानून के विरोध में गुवाहाटी में जोरदार प्रदर्शन हो रहा है। प्रदर्शन और सुरक्षा कारणों को देखते हुए जापान के पीएम भारत का दौरा रद्द कर सकते हैं।

भारतीय मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा जा रहा है कि स्थिति को देखते हुए शिखर वार्ता के लिए किसी दूसरे स्थान को भी चुना जा सकता है। हालांकि, विदेश मंत्रालय की ओर से इसे लेकर कोई सूचना नहीं जारी की गई है। असम में नागरिकता विधेयक को लेकर विरोध लगातार जारी है। गुवाहाटी में हजारों लोग कर्फ्यू का उल्लंघन करते हुए सड़क पर उतर आए और कई स्थानों पर स्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस को गोलियां भी चलानी पड़ी। मेघालय और असम में अगले 48 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। असम में 31 ट्रेनें या तो रद्द करनी पड़ीं या उनका रूट बदल दिया गया। वहीं गुवाहाटी और शिलॉन्ग में कर्फ्यू जारी है।

इससे पहले बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 के पारित होने के बाद गुरुवार को भारत की अपनी यात्रा स्थगित कर दी है। विदेश मंत्रालय का हालांकि कहना है कि दोनों घटनाक्रमों का आपस में कोई संबंध नहीं है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए. के. अब्दुल मोमिन ने अवगत कराया है कि उन्होंने 16 दिसंबर को बांग्लादेश के विजय दिवस के स्मरणोत्सव से संबंधित घरेलू मुद्दों के कारण अपना कार्यक्रम बदल दिया है। कुमार ने कहा, “उन्होंने हमें यात्रा के स्थगित होने के बारे में सूचित किया है। उन्होंने यह भी बताया है कि मंत्री ने 16 दिसंबर को बांग्लादेश के विजय दिवस की स्मृति से संबंधित घरेलू मुद्दों पर अपना कार्यक्रम बदल दिया है।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper