बसपा प्रत्याशी ने दोबारा किया नामांकन, सपा और कांग्रेस के सदस्य बने प्रस्तावक

लखनऊ। बसपा प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर ने सोमवार को दोबारा अपना नामांकन दाखिल किया और इस दौरान सपा और कांग्रेस के सदस्य उनके प्रस्तावक बने। उल्लेखनीय है कि बसापा प्रत्याशी भीमराव अंबेडकर ने 7 मार्च को नामांकन दाखिल किया था। उस दौरान उनके साथ बसपा के नेता साथ आए थे। विधानभवन में सोमवार को दोबारा दाखिल नामांकन के दौरान सपा नेता रामगोविंद चौधरी और कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय सिंह लल्लू मौजूद रहे।

सपा नेता रामगोविंद चौधरी ने अपने बयान में कहा कि समाजवादी पार्टी, बसपा, कांग्रेस, आरएलडी समान विचारधारा वाली पार्टियां हैं। ये सभी पार्टियां धर्मनिरपेक्षता पर विश्वास रखती हैं इसलिए सभी दल मिलकर एक साथ राज्यसभा चुनाव में एकजुट हुए है। सब मिलकर बसपा के प्रत्याशी को जिताएंगे। कांग्रेस नेता अजय सिंह लल्लू ने कहा कि भाजपा संविधानिक ढांचों पर कब्जा कर रही है और ये लोकतंत्र के लिए खतरा है। लोकतंत्र और सामाजिक एकता को बचाने के लिए ये समर्थन जरूरी है।

क्रास वोटिंग रोकने के लिए हुए एकजुट

यदि क्रास वोटिंग नही हुआ तो एक सीट पर विपक्ष एकता के चलते बसपा प्रत्याशी का जीतना लगभग तय है। फिलहाल भारतीय जनता पार्टी आठ उम्मीदवारों की जीत तय है। एक सीट सपा के खाते में जाएगी। बसपा के पास 19 विधायक हैं। उसे अपने उम्मीदवार की जीत के लिए और 37 मतों की आवश्यकता होगी। सपा के पास दस अतिरिक्त वोट, कांग्रेस के सात और रालोद का एक वोट जुड़ गया तो बसपा उम्मीदवार का जीतना तय है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper