बिना स्किन के ही पैदा हुआ ये बच्चा, डरकर भाग गई थी नर्स

नई दिल्ली: अक्सर हमें ऐसे-ऐसे चमत्कार देखने को मिलते हैं, जब हमें एकबारगी यकीन नहीं होता है। कुछ ऐसा चमत्कार ब्रिटेन के वर्विकशायर में देखने को मिला है, जिससे बड़े-बड़े डॉक्टर भी हैरान हैं। दरअसल, यहां छह महीने पहले एक ऐसा बच्चा पैदा हुआ, जिसके शरीर पर स्किन ही (चमड़ी) नहीं थी। इस बच्चे का जन्म नॉटिंघम सिटी हॉस्पिटल में हुआ। बच्चा पैदा होने पर ही डॉक्टरों ने कहा दिया था कि बच्चा 10 दिन से ज्यादा जीवित नहीं बचेगा, लेकिन शायद चमत्कार ही है कि बच्चा 6 महीने बाद भी जीवित है और उसके शरीर पर धीरे-धीरे स्किन (चमड़ी) आने लगी है। हालांकि, उस बच्चे और माता-पिता के लिए ये 6 महीने बेहद दर्दनाक रहे हैं।

बिना स्किन के पैदा हुआ बच्चा, डरकर भाग गई थीं नर्स

वार्विकशायर में रहने वाले जेसिका किब्लर और जैक शैटॉक नाम के दंपति के घर पहला मेहमान आने वाला था और दोनों हर गुजरते दिन खुशियों में डूबे थे। आखिरकार बढ़ते दर्द के कारण जेसिका को दस हफ्ते पहले ही नॉटिंघम के सिटी अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। 24 नवंबर को जेसिका ने एक बच्चे को जन्म दिया। ये बेबी प्रीमेच्योर बेबी था। चेहरे को छोड़कर इस बच्चे के शरीर पर कहीं भी स्किन (चमड़ी) नहीं थी।

यहां तक कि बच्चे को देखकर ऑपरेशन थिएटर में मौजूद नर्स भी डरकर बाहर भाग गईं क्योंकि बच्चा सिर्फ एक ताजा मांस के टुकड़े की तरह था। जेसिका बताती हैं कि ‘जब हम पहली बार माता-पिता बने, हम दोनों की उम्र 19 साल के आसपास थी। हमारा पहला बच्चा बेहद कमजोर और बीमार पैदा हुआ। उसकी हालत देखकर, जैक और मैं दोनों मिलकर बहुत रोए। यहां तक नर्स भी रो रही थीं वो नर्स हमें बच्चा सौंपने के बाद कमरे से बाहर निकल गईं। शायद उन नर्स के पास हमें दिलासा देने के लिए शब्द नहीं बचे थे’। जन्म के बाद दंपति ने मिलकर बच्चे का नाम काइदेन जैक शैटॉक रखा है।

Jessica Kibbler and Jack Shattock

जेसिका किब्लर ने कहा कि हम दोनों में से कोई इस बच्चे को 10 दिन तक गोद में नहीं उठा सका। हमारा बच्चा एक कच्चे मांस के टुकड़े की तरह लग रहा था, जिससे देख पाना मुश्किल होता था। काइदेन जैक शैटॉक अब 6 महीने का हो चुका है। उसे अब भी 4 और ऑपरेशन की जरूरत है। इन 6 महीनों में वह छह बार इमरजेंसी ट्रीटमेंट के लिए अस्पताल जा चुका है।

जेसिकी कहती हैं कि ‘हम काइदेन से बहुत प्यार करते हैं। हमें नहीं पता आगे क्या होगा, लेकिन हम उसका पूरा ख्याल रखेंगे। हमने बहुत दर्द सहा है। डॉक्टर अब भी कहते हैं कि काइदेन नहीं बचेगा, लेकिन हम उसका मरते दम तक ख्याल रखेंगे’।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper