मनमोहन सरकार में 3 बार सर्जिकल स्ट्राइक हुई, लेकिन मोदी की तरह प्रचार नहीं किया: राहुल

नई दिल्ली: राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कारोबारियों से मुलाकात की. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्जिकल स्ट्राइक जैसे ‘सैन्य फैसले’ को भी ‘राजनीतिक संपत्ति’ बना दिया है. साथ ही उन्होंने नोटबंदी को ऐसा घोटाला बताया जिसका उद्देश्य छोटे कारोबारियों और दुकानों की रीढ़ तोड़ना था.

उन्होंने मोदी सरकार को निशाना बनाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने नोटबंदी से पहले पूरी कैबिनेट को कमरे में बंद कर दिया था, दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था की धज्जियां उड़ा दीं और लाखों लोगों को बर्बाद कर दिया. राहुल ने कहा कि यूपीए सरकार के समय NPA 2 लाख करोड़ रुपए था, मोदी सरकार के 4 साल में एनपीए 12 लाख करोड़ रुपए हो गया. मोदी सरकार ने अनिल अंबानी, मेहुल चोकसी, विजय माल्या जैसे लोगों का लाखों करोड़ों रुपये का कर्जा माफ कर दिया.

‘…तो हम चीन को पछाड़ देंगे’

राहुल गांधी ने कहा कि अगर हिंदुस्तान में 10-15 साल सही सरकार आई तो हम चीन को पछाड़ देंगे. उन्होंने कहा, ‘चीन की सफलता का विश्लेषण करें तो चीन ने स्थानीय कौशल को मदद करके बढ़ावा दिया, हिंदुस्तान में ऐसा नहीं हुआ. यदि यहां स्थानीय कौशल का सम्मान करें तो हम चीन को पीछे छोड़ देंगे.’

भारत के सरकारी शिक्षा संस्थान सबसे बेहतर

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हिंदुस्तान के सबसे बेहतर शिक्षा संस्थान सरकारी हैं, प्राइवेट नहीं. क्योंकि ये फायदे के पीछे नहीं भागते, बल्कि ये सेवा करना चाहते हैं. राहुल ने कहा कि हिन्दुस्तान के इन्फॉर्मल सेक्टर को तोड़ने के लिए मोदी सरकार ने गब्बर सिंह टैक्स (GST) लाने का फैसला किया.

पीएम मोदी को हिन्दुत्व मतलब नहीं पता

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी खुद को हिंदू कहते हैं लेकिन खुद हिंदुत्व का मतलब तक नहीं जानते. राहुल गांधी ने कहा, ‘हिंदू धर्म का सार क्या है? गीता क्या कहती है? हर किसी को इसका ज्ञान है और चारों तरफ फैला है. प्रत्येक जीवित व्यक्ति इसे जानता है. वहीं, हमारे प्रधान मंत्री कहते हैं कि वह एक हिंदू है लेकिन वह हिंदू धर्म की नींव को नहीं समझ पाते. वह किस प्रकार के हिंदू हैं?’

मनमोहन सरकार में 3 बार सर्जिकल स्ट्राइक हुई

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सर्जिकल स्ट्राइक को राजनीति ‘मुद्दा’ बनाने का आरोप लगाया और कहा, ‘प्रधानमंत्री ने सेना के अधिकार क्षेत्र (डोमेन) में घुसते हुए उनकी सर्जिकल स्ट्राइक को राजनीतिक आस्ति (एसेट) में बदल दिया जबकि वास्तव में यह एक सैन्य फैसला था.’

राहुल ने कहा कि मनमोहन सिंह सरकार ने 3 बार सर्जिकल स्ट्राइक की लेकिन कांग्रेस की सरकार ने कभी सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय नहीं लिया. लेकिन उत्तर प्रदेश के चुनावों में हार सामने दिखी तो मोदी ने एक सैन्य फैसले को राजनीतिक संपत्ति में बदल दिया. उन्होंने कहा, ‘नरेंद्र मोदी सरकार जैसी सर्जिकल स्ट्राइक मनमोहन सरकार ने भी तीन बार की. क्या आपको पता है?’

उन्होंने कहा कि कृषि बीमा के संदर्भ में अनिल अंबानी को 6 राज्यों में अलग-अलग जिले सौंप दिये गये हैं, अब लोगों के पास कोई विकल्प नहीं बचा. यही काम शिक्षा और स्वास्थ्य में भी होने जा रहा है. अगर हमें 21वीं सदी में जाना है तो हमें हेल्थकेयर और शिक्षा के लिये 21वीं सदी के संस्थान बनाने ही होंगे.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper