मोदी जी कहे थे लाएंगे स्विस बैंक से पैसे ,भारतियों के पैसे से भर गया स्विस बैंक

अखिलेश अखिल

स्विस बैंक में लगातार बढ़ रहे भारतियों के पैसों ने मोदी सरकार कठघरे में ला खड़ा किया है। पार्टी के भीतर और विपक्ष इसको लेकर हमलावर हो गए हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में कालाधन और स्विस बैंक में भारतीयों के पैसा जमा होने पर तब की कांग्रेस सरकार को कठघरे में खड़ा किया था और वादा किया था की सरकार में आते ही कालाधन वापस लाने के लिए बड़ा कदम उठाएंगे। सत्ता संभालते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कालाधन वापस लाने के लिए एसआईटी का गठन किया था।

अब जब नरेद्र मोदी सरकार के चार साल से अधिक हो गए तो स्विस से पैसे तो नहीं आये उलटे भारी संख्या में भारतियों के पैसे वहाँ जमा होने की रिपोर्ट आ रही है। स्विस नेशनल बैंक (एसएनबी) के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले एक साल में बैंक में भारतीयों के जमा पैसे में 50 फीसदी का इजाफा हुआ है और ये 1 अरब स्विस फ्रैंक यानि 7000 करोड़ भारतीय रुपये तक पहुंच गया है। स्विस बैंक खातों में रखे भारतीयों के धन में 2011 में इसमें 12 फीसदी, 2013 में 43 फीसदी, 2017 में इसमें 50.2 फीसदी की बढ़त हुई। इससे पहले 2004 में यह धन 56 फीसदी बढ़ा था. स्विस बैंक में भारतीयों की पैसों में हुई बेतहाशा बढ़ोतरी पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने हमला बोला है। उन्होंने तंज भरे लहजे में ट्वीट कर कहा कि वित्त सचिव अधिया के लिए एक बड़ी कामयाबी, एक तरफ पूरी दुनिया का स्विस बैंक में डिपोजिट सिर्फ 3 फीसदी बढ़ा है, तो वहीं भारतीयों का 50 फीसदी बढ़ गया है।

वहीं कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि स्विस बैंकों में काला धन 50 प्रतिशत बढ़कर 7000 करोड़ रुपया हुआ! वादा था विदेशी बैंकों से 100 दिनों में 80 लाख करोड़ रुपये वापस लाने का! जुमले बने ‘अच्छे दिन’, कहां गये वो सच्चे दिन? साथ ही कांग्रेस ने कहा, ”मोदी जी नोटबंदी तो फेल हो ही गई, आपके वादे और दावे भी बुरी तरह से फेल हो गए हैं; अब तो बता दीजिये कि आपकी नाक के नीचे ये काला धन स्विस बैंकों में किसने जमा किया?”
उधर ,टैक्स हैवन कंट्री स्विटजरलैंड के बैंकों में भारतीयों के पैसों में बढ़ोतरी पर सीपीआईएम महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा कि इसमें कोई आश्चर्य नहीं है। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया कि जुमलामैन के पास 2014 में किये गये वायदों को याद करने के समय और इरादा नहीं है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper