ये हैं हरियाणा का पहला गांव, जहां राष्ट्रगान के साथ होगी दिन की शुरुआत

नई दिल्ली: एक तरफ जहां पूरे देश में वंदे मातरम और राष्ट्रगान को लेकर बहस चल रही है. दूसरी ओर हरियाणा के एक गांव ने ऐसा फैसला किया है, जिससे पूरे गांव की दिन की शुरुआत राष्ट्रगान की आवाज़ से ही होगी. हरियाणा के फरीदाबाद जिले के जाट बहुल भनकपुर गांव में अब रोज़ सुबह 8 बजे राष्ट्रगान बजेगा, इसके लिए गांव वालों ने 3 लाख रुपये खर्च कर करीब 20 लाउडस्पीकर लगाए जाएंगे.

गांव में करीब 5000 की आबादी है. ऐसा करने वाला भनकपुर हरियाणा का पहला गांव होगा. गुरुवार को गांव के सरपंच सचिन मदोतिया ने इस बात का ऐलान किया. उनके साथ स्थानीय विधायक और अन्य नेता भी मौजूद रहे. एक खबर के अनुसार, गांव का सरपंच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े हैं. उन्होंने बताया कि इसके लिए उनके ही घर में एक कंट्रोल रूम बनाया गया है. उनका कहना है कि उन्हें ये आइडिया जब आया, जिस दौरान उन्होंने तेलंगाना के जम्मीकुंटा के बारे में सुना. वहां पर भी लोग अपने दिन की शुरुआत राष्ट्रगान से ही करते हैं.

भनकपुर गांव इससे पहले भी चर्चा का विषय बना रहा है. इस गांव में कुल 22 सीसीटीवी कैमरे लगे हुए हैं, इसके अलावा गांव को स्वच्छता के अवॉर्ड से नवाज़ा जा चुका है. गौरतलब है कि राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत को लेकर पिछले कुछ समय से बवाल जारी रहा है. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ही सिनेमा हॉल में भी फिल्म से पहले राष्ट्रगान बजाना अनिवार्य हो गया है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper