राजभवन की पुष्प प्रदर्शनी में स्कूली बच्चों को मिलेगा निःशुल्क प्रवेश

लखनऊ ब्यूरो। राजभवन परिसर में आयोजित की जाने वाली प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी में इस बार स्कूली बच्चों को नि:शुल्क प्रवेश मिलेगा। प्रदर्शनी का उद्घाटन प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं पुरस्कार वितरण राज्यपाल राम नाईक करेंगे।

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव डाॅ. अनूप चन्द्र पाण्डेय ने निर्देश दिये हैं कि आगामी 16 एवं 17 फरवरी को आयोजित की जाने वाली प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी में सभी स्कूली बच्चों को निःशुल्क प्रवेश दिया जाए। मुख्य सचिव बुधवार को लोक भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में वर्ष 2019 में आयोजित होने वाली प्रादेशिक फल, शाकभाजी एवं पुष्प प्रदर्शनी की तैयारी बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी स्थल पर इन्फाॅर्मेशन ब्यूरो स्थापित कर निःशुल्क साहित्य का वितरण सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी में निजी पौधशाला स्वामियों को भी स्टाॅल लगाने तथा पौधों की बिक्री के लिए आमंत्रित किया जाए।

डाॅ. पाण्डेय ने यह भी निर्देश दिये कि प्रदर्शनी स्थल पर सेना व पीएसी के बैण्ड का निःशुल्क प्रबन्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी स्थल की स्वच्छता के लिए कूड़ादान एवं पर्याप्त संख्या में बेहतर गुणवत्ता के अस्थायी हाइजेनिक प्रसाधन (महिला एवं पुरुष) आदि की व्यवस्था नगर निगम तथा लखनऊ विकास प्राधिकरण द्वारा कराई जाए।

उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी स्थल के निकट वाहनों की पार्किंग स्थल की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए। उन्होंने कहा कि अध्ययनरत बच्चों को आमंत्रित करने के लिए विद्यालयों को प्रदर्शन आयोजन की पर्याप्त जानकारियां उपलब्ध कराई जाएं। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी स्थल पर आने वाले आगन्तुकों को निःशुल्क स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper