राम मंदिर पर फिर बोले योगी- सबको धैर्य रखने की जरुरत

लखनऊः भारत के लौह पुरुष सरदार वल्लभ पटेल कि आज 143 में जयंती है। इस अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ में आयोजित रन फॉर यूनिटी के कार्यक्रम में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कहा कि राम मंदिर 132 करोड़ आबादी की आस्था का प्रतीक है। हम सबको धैर्य रखना चाहिेए और ये मानना चाहिए कि इस समस्या का समाधान अवश्य होगा।

योगी ने कहा कि अयोध्या को देश और दुनिया के सामने रखने का आयोजन होगा। साउथ कोरिया अतिथि देश के रूप में इसमें भागीदार बन रहा है। अयोध्या का मुद्दा व्यापक आस्था से जुड़ा हुआ मुद्दा है। देश की उच्चतम न्यायलय अयोध्या से जुड़े मामले की सुनवाई कर रही है। भारत की न्याय पालिका स्वतंत्र है। राम मंदिर 132 करोड़ आबादी की आस्था का प्रतीक है। हम सबको धैर्य रखना चाहिए और ये मानना चाहिए कि इस समस्या का समाधान जरूर होगा।

बहराइच में अवैध पटाखा गोदाम में विस्फोट, छात्र समेत दो लोगों की मौत

मुख्यमंत्री इतने पर ही नहीं रुके उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि राहुल गांधी को यह समझना चाहिए कि हिंदू हिंदू होता है। हिंदू न अच्छा होता है, न ही बुरा होता है। उन्होंने कहा कि मुझे राहुल गांधी की समझ पर कभी-कभी अफसोस होता है। उसने कभी हिंदू को जाति के आधार पर तो कभी जाति भाषा के आधार पर बांटा है। आज वो अच्छा और बुरे के आधार पर बांट रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper