लॉकडाउन पर सरकार का फरमान- मेकअप करें महिलाएं ताकि घर पर ही रहे मर्द, रिझाकर कोरोना से बचाएं

पनामा: सेंट्रल अमेरिका के इस देश में कोरोना से एक हजार से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं। ऐसे में इस देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। लेकिन यहां जेंडर के आधार पर इसे लागू किया गया है। यानी यहां जेंडर के आधार पर फिक्स किये गए दिन में लोग बाहर निकल सकते हैं, ताकि जरुरी सामान खरीद सकें। सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को देश की महिलाएं जरुरी सामान लाने के लिए तो मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को देश के पुरुष दो घंटे के लिए बाहर जा सकते हैं। रविवार को किसी के भी बाहर निकलने पर पाबन्दी है।

कोलंबिया: यहां लोगों को उनके पहचान पत्र के आधार पर बाहर निकलने की अनुमति है। जैसे जिन लोगों की आईडी का आखिरी डिजिट 0, 4 या 7 है, वो सोमवार को शॉपिंग के लिए निकल सकते हैं। वहीं 1,5,8 वाले लोग मंगलवार को बाहर निकलेंगे। अब बोलीविया भी ऐसा ही नियम अपनाने पर विचार कर रहा है।

सर्बिया: इस देश में लॉकडाउन के दौरान शाम को दो घण्टे के लिए लोगों को कुत्ते टहलाने के लिए बाहर निकलने की छूट दी गई थी। ऐसा पशु चिकित्स्कों से कंसल्ट के बाद किया गया था। डॉक्टर्स ने बताया था कि जानवरों को बाहर घुमाना जरुरी है। अगर ऐसा नहीं किया गया तो उनसे घर में रहने वालों को इन्फेक्शन होगा। हालांकि, संक्रमण बढ़ने के बाद इस छूट को हटा लिया गया।

बेलारूस: इस देश में राष्ट्रपति ने कहा कि वो देश में लॉकडाउन नहीं लगाएंगे। क्यूंकि उन्होंने कोरोना को नहीं देखा है। साथ ही उन्होंने इस बात का विश्वास जताया कि ठन्डे मौसम के कारण वहां वायरस नहीं आएगा। इस देश में वायरस के कारण अभी तक एक भी मैच कैंसिल नहीं किया गया है जबकि कई देशों में पहले हुए मैच देखने आए लोगों में ये संक्रमण तेजी से फैला है।

स्वीडेन: इस देश में अब 50 से अधिक लोगों के जमा होने पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। ये फैसला तब लिया गया जब धीरे-धीरे यहां अधिक लोग संक्रमित होने लगे। अभी तक यहां साढ़े चार हजार से अधिक लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। लेकिन अभी भी यहां बच्चों के स्कूल खुले हुए हैं।

मलेशिया: इस देश में आंशिक लॉकडाउन लगाया गया है। कुछ समय पहले देश के महिला मंत्रालय ने ऑनलाइन एक कार्टून साइट पर शेयर की थी। इसमें महिलाओं से घर में मेकअप कर और अपने पति से कम झगड़ा करने को कहा था। कार्टून में जहा गया कि अगर वो तैयार होकर रहेंगी, तो मर्द घर से बाहर नहीं निकलेंगे। हालांकि बाद में इस कार्टून को हटा लिया गया और सरकार ने इसके लिए माफ़ी भी मांगी।

तुर्कमेनिस्तान: इस देश में अभी तक कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है, जबकि इस देश की सीमा ईरान से लगती है, जहां वायरस ने भयंकर तबाही मचाई है। इस देश में किसी भी मीडिया में कोरोना शब्द पर बैन लगा दिया है। साथ ही अगर कोई मास्क लगाकर सड़क पर उतरा तो उसे जेल भेज देंगे।

ऑस्ट्रिया: इस देश में लोगों का पब्लिक प्लेस में मास्क लगाना अनिवार्य हो गया है। ऐसा करने वाला ये दुनिया का चौथा देश है। इससे पहले चेक गणराज्य, स्लोवाकिया और हर्ज़ेगोविना में इसे अनिवार्य कर दिया गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper