सीएम साहब! यूपी में कब आएंगे महिलाओं के सुरक्षित दिन?

लखनऊ: सरकार के कई प्रयासों के बाद भी देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में महिलाएं बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं हैं। अभी कुछ दिनों पहले ही उन्नाव में एक नाबालिक के साथ रेप का मामला सामने आया था, और एक बार फिर से यूपी के उन्नाव में ही महिला से छेडछाड़ का वीडियो सामने आया है।

इस वीडियो में एक महिला से कुछ दरिंदे छेड़छाड़ कर रहे हैं। महिला उनसे रहम की भीख मांगती है, लेकिन मानों उन्होंने अपने कान बंद कर लिए थे। वीडियो में साफ- साफ दिखाई दे रहा है कि वो सभी उस महिला के साथ मनमानी करते हुए शारीरिक संबंध बनाने का दबाव डालते दिखाई दे रहे हैं। उनमें से एक दरिंदे ने ही इस पूरी घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया है।

बताया जा रहा है कि यह वायरल वीडियो उन्नाव के गंगाघाट थाना क्षेत्र का है, यह काफी सुनसान इलाका है। वीडियो के वायरल होने के बाद चारों तरफ हड़कंप मचा हुआ है। जब इस वीडियो के बारे में पुलिस को जानकारी मिली तो पूरे महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी हुई हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीडिता महिला ने अभी तक पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कराई है।

पुलिस का कहना है वायरल हो रहे इस वीडियो की वो जांच करा हैं। पुलिस ये पता लगा रही है कि वीडियो किस तारीख का है और कहां का है। साथ ही वीडियो में दिख रहे तीनों आरोपियो की भी पहचान कराई जा रही है। जैसे ही इस मामले में कोई पुख्ता सबूत मिलते हैं, तो आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper