स्कूल पर गिरी हाईटेंशन लाइन, 53 बच्चे झुलसे

बलरामपुर: उतरौला तहसील क्षेत्र के नयानगर विशुनपुर प्राथमिक विद्यालय भवन की छत पर हाईटेंशन का तार टूटकर गिरने से करंट उतर आया जिससे 53 बच्चे गंभीर रूप से झुलस गये। इन सभी बच्चों का इलाज निजी व सरकारी अस्पतालों में चल रहा है। एसडीएम उतरौला एके गौड़ का कहना है कि सभी 53 बच्चे खतरे से बाहर हैं। अधीक्षण अभियंता ललित कुमार का कहना है कि रो¨स्टग के बाद चमरूपुर फीडर की सप्लाई शुरू होते ही हादसा हो गया।

तार टूटकर गिरते ही सप्लाई बंद हो गई। बताया कि कुशल श्रमिक इबने हसन को निलंबित व संविदा कर्मी गोपी नाथ शुक्ला को बर्खास्त कर दिया है। अवर अभियंता प्रिंयदर्शी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की संस्तुति की है। डीएम कृष्णा करुणोश ने पानी से घिरे स्कूलों को दो दिन के लिए बंद करने का फरमान जारी किया है। सहायक अध्यापक ऋचा सिंह ने बताया कि विद्यालय में 135 पंजीकृत बच्चों में से 70 बच्चे आए थे। इसी परिसर में संचालित जूनियर हाईस्कूल में पंजीकृत 32 में से 16 बच्चे उपस्थित थे।

बताते है कि करंट की चपेट में आने से आदित्य (12), अनुराग (8), शिवम (7), बजरंगी (7), इकरा (6), अर¨वद (7), मेलाराम (5), निशा फात्मा (6), मुहम्मद दीन (7), फैजान (7), जुबेर (9), प्रियांशु (5), राहुल (9), राशिद (7), राजा बाबू (5), मुहम्मद जान (7) शाजिया (2), प्रीति (8), उषा (5), नीतू (5), संध्या (6), अमन (5), मानसी (4), सरिता (7), गोपाल (8), विजय (10), दीपक (5) कीमती सिंह (7), नीतू (5), ताहिर (9), रिवांश, संजना, रिया, कविता, मनीष, अमरेश, सुनीता, विक्रम, गुलाम मुहम्मद, आफरीन, शबीना बानो, हबीब, ताहिरा, गयासुद्दीन समेत 53 बच्चे झुलस गये हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper