रामभक्त हनुमान की मूर्ति, फव्वारे और फूलों के बाग, अयोध्या जाने वाली सड़क पर दिखेगा ऐसा नजारा

अयोध्या/नई दिल्ली: राम मंदिर के निर्माण के साथ ही धर्मनगरी अयोध्या (Ayodhya) के ऐतिहासिक स्वरूप को पुनर्जीवित करने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। 5 अगस्त को प्रस्तावित राम मंदिर के भूमि पूजन समारोह से पहले सरकार ने अयोध्या के सुंदरीकरण और विकास का पूरा खाका तैयार किया है। इस क्रम में अयोध्या बाईपास (Ayodhya Bypass) से लेकर शहर तक तमाम बड़े काम किए जाने हैं।

अयोध्या में राम मंदिर (Ram Mandir) निर्माण के साथ ही शहर के तमाम स्थानों का भी विकास सुनिश्चित करने की योजना बनाई गई है। इस क्रम में अयोध्या बाईपास के लिए नैशनल हाइवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI Project in Ayodhya) ने एक खास योजना बनाई है।

बाईपास के समीप कई खास तैयारियां
इस प्लान में बाईपास के पास भगवान हनुमान की प्रतिमा लगाने, छोटे फ्लावर गार्डन बनाने और फव्वारे लगाने का प्लान तैयार किया गया है। एनएचएआई की योजना है कि लखनऊ, गोरखपुर और अन्य मार्गों से अयोध्या में प्रवेश करने वाले लोगों को शहर की सुंदरता के प्रति आकर्षित किया जा सके।

बढ़ेंगी विकास की संभावनाएं
एनएचएआई की इस योजना में 55 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च की जानी है। इस काम के लिए आगामी बुधवार को निविदाएं खोली जाएंगी। एनएचएआई का कहना है कि इस प्रॉजेक्ट के जरिए अयोध्या के विकास को और गति मिल सकेगी। इसके अलावा राम मंदिर के निर्माण कार्य के पूरा होने तक अयोध्या को एक अलग रूप में पर्यटन के बड़े क्लस्टर के रूप विकसित किया जा सकेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper