बनियाखेड़ा में पीड़ित परिवार से मिले अखिलेश, भाजपा सरकार को बताया नकारा

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सोमवार को काकोरी के बनियाखेड़ा और कटौली गांव गये, जहां डकैतों की गोली से मारे गये अभिषेक उर्फ कोमल (20) के पिता हरिशंकर यादव से मुलाकात कर परिवार को सांत्वना दी और बेटे की मौत पर गहरा दुख प्रकट किया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है। भाजपा सरकार में अपराधियोें के हौंसले बुलन्द हैं। उधर, बसपा व आप पार्टी के लोग भी मौके पर गये और पीड़ितों से मिलकर उन्हें दुख प्रकट किया और भाजपा सरकार को नकारा बताया।

यादव ने बनियाखेड़ा गांव में घायलोें से मुलाकात कर उन्हें हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया। उन्होंने सरकार से मांग की है कि डकैती के दौरान हुई जानमाल के नुकसान की भरपाई की जाए। पीड़ित परिवारों को नौकरी व शस्त्र लाइसेंस मुहैया कराये जाएं। इस दौरान दोनों गांव के लोगोें ने पूर्व मुख्यमंत्री को अपनी व्यथा सुनाई। इस दौरान ग्रामीणोें के चेहरों पर भय साफ झलक रहा था। श्री यादव ने कहा कि जब तक डकैत गिरफ्तार कर जेल नहीं भेज दिए जाते गांव की सुरक्षा का पूरा इन्तजाम किया जाए। उन्होंने कहा कि दर्जनोें लोग घायल हैं। मौके से पुलिस ने कारतूसों के 80 खोखे बटोरे हैं, इसी से घटना की गंभीरता को समझना चाहिए। ऐसा लगता है कि प्रदेश में जंगलराज कायम हो गया है। भाजपा सरकार में अपराधियोें के हौंसले बुलन्द हैं।

बनियाखेड़ा व कटौली गांव जाकर दी पीड़ित परिवारों को सांत्वना

उन्होंने कहा अपराधोें में लगातार वृद्धि हो रही है। इसके लिए सरकार जवाबदेह, लेकिन अभी तक सरकार ने ऐसा नहीं किया जो दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा सपा सरकार ने डायल 100 का गठन कानून-व्यवस्था को मजबूत करने के लिए किया था, लेकिन भाजपा सरकार ने इस व्यवस्था को बर्बाद कर दिया। उनके नेतृत्व में समाज को खतरा है। भाजपा सरकार जनता को धोखा दे रही है। उन्होंने कहा कि वर्तमान राजनैतिक नेतृत्व से सामाजिक व्यवस्था को खतरा है, ऐसे में उद्योगपति उत्तर प्रदेश में निवेश कैसे कर सकते हैं। उद्योगपति अपनी जान-माल की सुरक्षा की गारण्टी के बगैर प्रदेश में क्यों आना चाहेगा। श्री यादव ने कहा कि काकोरी शहीदों की धरती है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि यहां डकैतों की गोलियां गूंज रही हैं। हालात चम्बल जैसे हो गये हैं। प्रदेश में हो रही हत्या, लूट बलात्कार व डकैती की वारदातोें से जनता में भय का माहौल है।

उनका सरकार से भरोसा उठ गया है। इस मौके पर पूर्व मुख्यमंत्री के साथ नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन, राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी गये थे। घटनास्थल पर पूर्व मंत्री रविदास मेहरोत्रा, आरके चौधरी, पूर्व सांसद सुशीला सरोज, एमएलसीगण सुनील यादव साजन व राजेश यादव राजू भी उपस्थित थे। उधर, इसी क्रम में बसपा के प्रदेश अध्यक्ष रामअचल राजभर भी मौके पर पहुंचे और उन्होंने कहा कि ग्राम प्रधान हरि शंकर यादव के घर डकैती, लूट व बेटे की हत्या से यह साबित हो गया है कि प्रदेश सरकार पूरी तरह से निरंकुश हो चुकी है। इस समय कोई भी अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहा है। श्री राजभर ने कटौली गांव में प्रधान हरिशंकर यादव के घर पर जाकर की हत्या पर सांत्वना व्यक्त की और ढांढस बंधाते हुए कहा कि इस दुख की घड़ी में हम सब आपके साथ हैं।

बसपा व आप ने भी भाजपा सरकार को नकारा बताया

हमें तब तक तसल्ली नहीं होगी जब तक आपके बेटे की हत्या करने वाले बदमाशों का खात्मा नहीं किया जाता। इसी तरह कटौली व बनियाखेड़ा गांव पहुंचे आम आदमी पार्टी का प्रतिनिधि मण्डल ने कहा कि सपा व भाजपा सरकार दोनों एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। उन्होंने तंज कसा कि योगी की सरकार जंगल पार्ट-टू व अखिलेश की सरकार जंगल पार्ट-वन थी। अवध प्रान्त अध्यक्ष ब्रज कुमारी ने कहा कि गांव में पुलिस चौकी स्थापना होनी चाहिए, जिससे ग्रामीणों की सुरक्षा हो सके। पीड़ितों को मुआवजा मिले। प्रदेश प्रवक्ता महेन्द्र सिंह ने कहा कि पूरे प्रदेश में कानून-व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। गांव में एसएसपी मौजूद है और तब भी डैकती पड़ रही है। इस मामले में पुलिस फेल साबित हुई है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper