VHP ने राम मंदिर मसले को टाले जाने का ठीकरा कांग्रेस के सिर फोड़ा

लखनऊ। विश्व हिन्दू परिषद ने उच्चतम न्यायालय में राम मंदिर मसले को टाले जाने का ठीकरा कांग्रेस पर फोड़ते हुए कहा है कि इस पार्टी ने रोड़ा नहीं अटकाया होता तो राम मंदिर पर फैसला सितम्बर 2018 में ही आ जाता।

विहिप उपाध्यक्ष चंपत राय ने बुधवार को मीराबाई मार्ग स्थित स्टेट गेस्ट हाउस में पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस मंदिर मसले को हल नहीं होने देना चाहती। कपिल सिब्बल और राजीव धवन ने बेवजह कोर्ट का समय नष्ट किया है। कपिल सिब्बल ने उच्चतम न्यायालय से 2019 के बाद मुकदमे की सुनवाई का आग्रह किया था। इससे साफ है कि कांग्रेस राम मंदिर निर्माण को लटकाना चाहती है। उनका दावा था कि श्री सिब्बल और उनकी पार्टी यदि यह सब नहीं करते तो राम मंदिर निर्माण के मसले पर न्यायालय का फैसला सितम्बर 2018 में ही आ जाता।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की तमाम साजिशों के बावजूद अब राम मंदिर का मामला अधिक दिनों तक नहीं लटकाया जा सकता क्योंकि इससे हिन्दू समाज में आक्रोश फैल रहा है। हिन्दू समाज की भावनाओं को देखते हुए 25 नवम्बर को अयोध्या में बड़ा भक्तमाल की बगिया में विराट धर्म सभा का आयोजन होगा। उन्होंने कहा कि भारत में लोगों को हिन्दुओं की आस्था को समझना होगा। राम मंदिर के लिए पांच सौ साल से संघर्ष चल रहा है और अब मंदिर निर्माण की प्र​तीक्षा असह्य हो रही है। उन्होंने यह भी बताया कि राम घाट स्थित न्यास कार्यशाला में मंदिर निर्माण के लिए पत्थरों की तराशी का कार्य लगभग पूरा हो चुका है।

चंपत राय ने कहा कि न्यायालय के रूख से लग रहा है कि अब वह न्याय करने से बच रहा है। उन्होंने कहा कि राम मंदिर पर मुख्य न्यायाधीश की टिप्पणी ‘राम मंदिर उनकी प्राथमिकता में नहीं है’ से सम्पूर्ण हिन्दू समाज आहत है। विहिप उपाध्यक्ष ने बताया कि अयोध्या में हो रही धर्मसभा में करीब एक लाख हिन्दू शामिल होंगे और 09 दिसम्बर को दिल्ली की धर्मसभा में पांच लाख रामभक्त शामिल होंगे। इसलिए हिन्दुओं की भावना और आस्था को सरकार और अदालत दोनों को समझना चाहिए। 25 नवम्बर को ही मुंबई और बेंगलूरू में भी धर्मसभा का आयोजन होगा।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने 31 जनवरी और 01 फरवरी को प्रयाग राज के कुंभ में आयोजित धर्म संसद में मंदिर निर्माण के लिए कारसेवा की तिथि निश्चित करने की संभावना से इन्कार नहीं किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper