चीन के साथ पाकिस्तान से निपटने के लिए हम तैयार: सेना

श्रीनगर: लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) को लेकर भारत और चीन के बीच तनाव थम नहीं रहा है. भारतीय सेना ने कहा है कि इस स्थिति में भी सेना लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर पाकिस्तान से निपटने के लिए हमेशा तैयार है.

जब से लद्दाख में भारतीय सेना और चीनी सेना में झड़प हुई है, तब से पाकिस्तान लगातार एलओसी के समीपवर्ती इलाकों में गोलीबारी कर रहा है. आर्मी को शक है कि भारत को लद्दाख में तनावपूर्ण स्थिति में देखकर पाकिस्तान लगातार सीज फायर का उल्लंघन कर रहा है.

भारतीय सेना का कहना है कि एक रणनीति के तहत पाकिस्तान एलओसी पर गोलीबारी कर रहा है. सेना ने यह भी कहा है कि वह हर चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है.

दरअसल लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर तनाव के बीच लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर पाकिस्तान की अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. शुक्रवार को भी पाकिस्तान ने राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन किया और भारी गोलीबारी की.

पाकिस्तान ने सीमावर्ती इलाकों में बड़ी संख्या में मोर्टार दागे गए. पाकिस्तानी हरकत का भारतीय सेना ने मुंहतोड़ जवाब दिया. इससे पहले जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में एलओसी पर पाकिस्तानी सेना ने गुरुवार को भी सीज फायर तोड़ा है.

भारतीय सेना से जुड़े सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान ने बिना किसी उकसावे के कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर छोटे हथियारों से गोलीबारी करके और मोर्टार से गोलाबारी कर संघर्षविराम का उल्लंघन किया.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper