अखिलेश जी 2024 में खाली होने के बाद विदेशी सैर-सपाटे के लिए जेवर से भर सकेंगे उड़ान: स्वतंत्रदेव सिंह

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा के बहाने सपा मुखिया अखिलेश यादव पर एक बार फिर हमला बोला है। स्वतंत्रदेव सिंह ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि अखिलेश जी 2024 में पूरी तरह से खाली होने के बाद आप अपने विदेशी सैर-सपाटे के लिए नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट से जहाज ले सकेंगे…हार्दिक बधाई।

मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुरुवार 25 नवम्बर को नोएडा एयरपोर्ट जेवर का शिलान्यास करने पहुंच रहे हैं। अयोध्या और जेवर एयरपोर्ट के बनने से उत्तर प्रदेश में पांच अंतराष्ट्रीय हवाई अड्डा हो जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 25 नवम्बर को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास करेंगे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गत मंगलवार को गौतमबुद्धनगर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम को ध्यान में रखकर कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया है। उन्होंने जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों के साथ एक बैठक में आयोजन की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कार्यक्रम को सुव्यवस्थित ढंग से सम्पन्न करने के लिए सभी व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित की जाएं।

मुख्यमंत्री ने मंगलवार को कहा कि 30 से 35 वर्ष पूर्व से यहां के लोग एक एयरपोर्ट की मांग कर रहे थे। चीजों को वास्तविक धरातल पर उतारने के लिए जिस इच्छा शक्ति की आवश्यकता थी, उसके अभाव में कार्य आगे नहीं बढ़ पाया। प्रदेश सरकार ने वर्ष 2017 में ही तत्काल यह निर्णय लिया कि जेवर क्षेत्र में एशिया का सबसे बड़े एयरपोर्ट का निर्माण किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सकारात्मक एवं ईमानदार सोच के साथ जब सरकार कार्य करती है तो दमदार परिणाम देखने को मिलते हैं। नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर, बुलन्दशहर, अलीगढ़, हापुड़ और एनसीआर में उत्तर प्रदेश के आसपास के क्षेत्र के लोगों की व्यावसायिक एवं औद्योगिक गतिविधियों में तेजी आएगी। नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट विकास के साथ-साथ रोजगार की विभिन्न सम्भावनाओं को लेकर आगे बढ़ रहा है।

मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन से नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट के प्रथम फेज में 10 हजार करोड़ रुपये का निवेश सम्भावित है। एयरपोर्ट के निर्माण में लगभग 34 से 35 हजार करोड़ रुपये का निवेश होगा और एक लाख से अधिक लोगों को नौकरी एवं रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। इसके साथ ही, अन्य ढेर सारी सम्भावनाएं भी यहां पर विकसित होंगी। यह एयरपोर्ट एक ज्वाइण्ट वेंचर है। नोएडा, ग्रेटर नोएडा एवं यमुना प्राधिकरण के साथ राज्य सरकार एयरपोर्ट के निर्माण की कार्यवाही को आगे बढ़ा रही है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper