अखिलेश ने मीडिया पैनलिस्ट में किया बदलाव, पंखुड़ी हटीं

लखनऊ: सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इलेक्ट्रानिक चैनल में पार्टी का पक्ष रखने के लिए अपने पूर्व मीडिया पैनलिस्टों में बदलाव कर दिया है। इस बदलाव में कुछ नये चेहरे शामिल किए गये हैं तो कुछ पुराने नेताओं की छुट्टी हो गयी है। इस बदलाव का शिकार पंखुड़ी पाठक (नोएडा) भी बनी हैं। उधर मीडिया पैनलिस्ट से हटाए जाने के तत्काल बाद पाठक ने सपा से नाता तोड़ने की घोषणा की।

अखिलेश यादव द्वारा बनायी गई नयी 24 मीडिया पैनलिस्टों की सूची पार्टी प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने सोमवार को जारी की। इसमें पंखुड़ी पाठक का नाम शामिल नहीं है। जबकि सैय्यद अब्बास अली जैदी उर्फ रूश्दी मियां, वंदना सिंह, शवेन्द्र विक्रम सिंह, पवन पाण्डेय, प्रो. अली खान महमूदाबाद, ऋचा सिंह, निधि यादव को नये चेहरे के तौर पर जगह दी है। उधर पंखुड़ी पाठक ने मीडिया पैनलिस्ट से हटाए जाने के बाद सपा से नाता तोड़ने की घोषणा कर दी।

उन्होंने मीडिया को एक पत्र जारी किया, जिसमें सपा में जाति और लिंग को आधार बनाकर पार्टी के लोगों द्वारा हमला किये जाने का आरोप लगाते हुए कहा है कि इसकी जानकारी के बावजूद नेतृत्व ने ऐसे नेताओं पर कार्रवाई नहीं की। पाठक ने सपा पर विचारधार से भटक जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा सपा में बने रहने के लिए स्वाभिमान से समझौता करना पड़ता है। पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र की कमी और बढ़ती चाटुकारिता का माहौल बन गया है।

निष्ठावान व मेहनती कार्यकर्ताओं की यहां उपेक्षा हो रही है। मैंने सपा को आठ साल दिए। पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को नेता ही नहीं भाई माना मगर पार्टी में मुझे काफी दिनों से अपमान दिया जा रहा। एक महिला होने के बावजूद मेरे साथ हो रहे टाग्रेटेड हैरेसमेंट को नजरांदाज किया गया। ऐसे में पार्टी में बने रहने का कोई औचित्य नहीं रह गया है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper