अगर देर रात तक करते हैं मोबाइल का इस्तेमाल, तो ये खबर पढ़कर हो जाएं सावधान

नई दिल्ली: आजकल के समय में ना सिर्फ युवा बल्कि बुजुर्ग भी मोबाइल पर आश्रित होते जा रहे हैं। बिना फोन के लोग खुद को अधूरा और अकेला समझते हैं। सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक फोन सांस की तरह साथ रहता है। लेकिन इसके अधिक प्रयोग के कारण कई प्रकार की स्‍वास्‍थ्य समस्‍यायें होती हैं। इसलिए जरूरी है कि फोन को अपनी जिंदगी में अधिक दखल देने से बचाया जाए। आज हम आपको कुछ ऐसी बीमारियों के बारे में बता रहे हैं जो फोन का अधिक इस्तेमाल करने के चलते होती है।

➪सोने से पहले लंबे समय तक फोन को देखने से फोन की तेज रोशनी आपकी स्कीन पर पड़ती है। जिससे न्यूरॉन्स की गतिविधि धीमी हो सकती है और आपको देरी से नींद आती है। इससे यह प्रभाव पड़ता है कि जब आप सो भी जाते है तो यह आपके मस्तिष्क को जागने की स्थिति में रखता है। जिससे आपकी नींद पूरी नही हो पाती है। फोन की कृत्रिम रोशनी पर घूरते हुए मेलाटोनिन, नींद वाले हार्मोन दबाता है, जो आपके शरीर के नींद के चक्र को प्रभावित करता है।

➪नींद से पहले फोन पर ब्राउजिंग भी आपकी आंखों पर बुरा प्रभाव डालता है। यदि यह आपकी प्रतिदिन की आदत है तो इससे आपकी आंखों को गंभीर नुकसान हो सकता है। जब आप सुबह जागते है और आपकी आंखो के आगे काफी देर तक अंधेरा छाया रहता है साथ ही थके हुए और उदास महसूस करते है तो यह आपकी खराब हो रही आंखो का संकेत है। अंधेरे में लंबे समय तक प्रकाशित स्क्रीन को देखते रहने से यह आपकी आंखो में बहुत अधिक तनाव पैदा करता है। आंखो में बहुत अधिक तनाव आपकी मानसिक स्वास्थय को भी प्रभावित करता है।

➪देर रात तक फोन पर ब्राउज करने से आपको सुबह समय पर जागने में परेशानी हो सकती है। आपके सेल फोन पर प्रकाश आपकी नींद को प्रभावित करता है, जो अनिद्रा को भी ट्रिगर कर सकता है। नींद की कमी आपकी सतर्कता और एकाग्रता स्तर को प्रभावित करती है। जिससे आपको हर वक्त थकान और नींद महसूस होती है।

यदि आपको भी ऊपर दिए गए निम्नलिखत में से कोई भी आदत है या आपको भी इनमें से किसी प्रकार की किसी परेशानी का अनुभव हो रहा है तो तुरंत आप को अपनी आदतो को बदलने की आवश्यकता है। यदि आपकी परेशानी अधिक बड़ रही है तो तुरंत स्पेशलिस्ट डॉक्टर से मिलने की आवश्यकता है। लेकिन ऊपर दी गई अधिकतर बिमारियो से आप केवल अपनी आदतो में सुधार से बच सकते है बस आपको समय पर जागरूक होने की आवश्यकता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper