अटल जी के निधन पर लालू यादव की यह गलती पड़ सकती है भारी!

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के निधन पर पूरे देश में शोक की लहर है। हर कोई अपने प्रिय नेता को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है। अटल बिहारी वाजपेयी के निधन को खुद के लिए एक बड़ी क्षति बताया है। वहीं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि भारत ने अपना महान सपूत को दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कहा कि आज भारत का महान सपूत चिरनिद्रा में सो गया। इसी क्रम में लालू प्रसाद यादव ने भी ट्वीट कर अटल बिहारी वाजपेयी को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की है।

राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा है कि भारतीय राजनीति में एक युग का अंत हो गया। वाजपेयी जी के निधन से मैंने एक मित्र और अभिभावक खो दिया है। वो उस राजनीतिक धारा के आखिरी स्तम्भ थे, जहां परस्पर विरोधी राजनीतिक विचारधारा के लोग सहज और शालीन संवाद कर सकते थे। और हां, गर्व का विषय है कि अटल जी के नाम में बिहारी भी था। आप बहुत याद आओगे। लालू प्रसाद का यह ट्वीट काफी वायरल हो रहा है। कई लोग यह पूछ रहे हैं कि लालू प्रसाद यह ट्वीट कैसे कर रहे हैं?

दरअसल लालू प्रसाद यादव अभी चारा घोटाले के मामले में सजायाफ्ता है। कोर्ट से उन्हें स्वास्थ्य कारणों के आधार पर बेल मिला हुआ है। इस अवधि में लालू को किसी भी राजनीतिक कार्यक्रम में भाग लेने की इजाजत नहीं दी गई है। अब चूंकि उनके आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट हुआ है। इसलिए सवाल खड़े किए जा रहे हैं। पिछले दिनों तेजस्वी यादव ने कुछ इसी प्रकार का सवाल किया था। पटना के आसरा शेल्टर होम की संचालक मनीषा दयाल की गिरफ्तारी के बाद उनका सोशल मीडिया अकाउंट एक्टिव था। तेजस्वी ने इस मामले में राज्य की नीतीश कुमार सरकार को जिम्मेदार ठहराया था।

हालांकि तेजस्वी यादव ने पहले ही ट्वीट कर लालू यादव के ट्विटर अकाउंट का संचालन एक टीम के द्वारा किए जाने की बात कही थी। लेकिन, अब सवाल उठता है कि लालू ऑप्शनल बेल पर बाहर होकर राजनीतिक ट्वीट कैसे कर सकते हैं? इस मसले पर अब राजनीति जर्मनी तय है। सवाल यह भी उठेंगे कि जो नेता किसी भी मामले में सरकार को नीतीश कुमार को जिम्मेदार ठहराते हैं, उस मामले पर सरकार क्या निर्णय लेती है? क्योंकि लालू प्रसाद यादव अगर एक टीम के द्वारा अपने सोशल मीडिया अकाउंट का संचालन करा सकते हैं, तो कोई दूसरा भी उसी प्रकार से अकाउंट चला सकता है। इस पर सवाल खड़े करना तेजस्वी पर अब भारी पड़ सकता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper