अधेड़ से पहले मां ने कराई नाबालिग बेटी की शादी, फिर पति ने देह व्‍यापार में धकेला

गोरखपुर: गोरखपुर के गुलरिहा थाना क्षेत्र के एक गांव की नाबालिग को उसकी मां और सौतेले बाप ने अधेड़ के हाथों शादी करने के बहाने बेच दिया। राजस्थान में पीड़िता के साथ जब अमानवीय व्यवहार किया जाने लगा तो वह किसी प्रकार वापस गांव पहुंची। उसने जब वह दोबारा ससुराल जाने से मना कर दिया तो उसके मां-बाप ने उसे कमरे में तीन दिन तक बंद रखा। खिड़की के रास्ते किसी तरह कूदकर लड़की शुक्रवार को भटहट पुलिस चौकी पहुंची। उसने पुलिस से मदद की गुहार लगाई है।

बताया जा रहा है लड़की की मां मिठाई की एक दुकान पर काम करती है। उसके कुल चार बच्‍चे हैं। कुछ समय पहले उसने गांव के एक शख्‍स से दूसरी शादी कर ली। उस शख्‍स की पहली पत्‍नी उसे छोड़ गई थी। महिला ने चार महीने पहले अपनी दूसरे नंबर की 16 वर्षीय बेटी की शादी राजस्थान के लाडपुर निवासी 45 वर्षीय के व्यक्ति के साथ करा दी। जब लड़की राजस्‍थान में अपनी ससुराल पहुंची तो दूसरे ही दिन उसे खेत में बाजरा काटने के लिए लगा दिया गया। लड़की का आरोप है उससे दिन भर काम, शाम को देह व्‍यापार कराया जाता था। परेशान होकर लड़की अपने मायके जाने की गुहार लगाने लगी। लेकिन जब उसे घर नहीं भेजा गया तो एक दिन वह छत से कूद गई।

उसने आत्महत्या करने की धमकी दी तब जाकर ससुराल वाले उसे मायके भेजने पर मजबूर हुए। अब उसका सौतेला बाप और मां उसे दोबारा ससुराल भेजना चाहते हैं। जब उसने अपनी पीड़ा बताकर जाने से इनकार किया तो उसे तीन दिन तक एक कमरे में बंद कर दिया गया। शुक्रवार की सुबह खिड़की के रास्ते भागकर वह भटहट पुलिस चौकी पहुंची और आपबीती बताई। पुलिस ने लड़की को घर भेजा शिकायत लेकर आई लड़की को पुलिस ने वापस उसके घर भेज दिया। पुलिस का कहना है कि पूरे मामले की जांच-पड़ताल कर कार्यवाही की जाएगी। इस सम्‍बन्‍ध में चौकी प्रभारी वीरेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि लड़की मां-बाप से पूछताछ की जा रही है। सच्‍चाई का पता लगाकर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper