अपनी खोई सियासी ताकत पाने की जुगत में लगे अजित सिंह

मेरठ: कभी पश्चिमी उत्तर प्रदेश की सियासी ताकत रहे राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया अजित सिंह अपनी खोई ताकत को पाने की जुगत में हैं। इसके लिए वह महागठबंधन से लेकर अपनी स्वतंत्र पहचान बनाने को प्रयासरत हैं। अजित सिंह ने अब मेरठ को अपना केंद्र बनाकर विभिन्न कार्यक्रम करने का निर्णय लिया है। बाउण्ड्री रोड स्थित कैंप कार्यालय पर राष्ट्रीय लोकदल के संगठन महासचिव डाॅ. राजकुमार सांगवान ने बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अजित सिंह 15 और 16 अप्रैल को जनपद में सद्भावना व जनसंवाद कार्यक्रम में भाग लेंगे। इस दौरान वह पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे।

इन कार्यक्रमों में वह विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि मंडलों व समाज के प्रबुद्ध व्यक्तियों से सीधा संवाद करेंगे। विभिन्न सामाजिक संगठनों में मुख्य रूप से किसान, मजदूर, शिक्षक, पूर्व सैनिक, डाक्टर, महिला, अनुसूचित जातिध्जन जाति, हरित प्रदेश निर्माण, अल्पसंख्यक, छात्र तथा युवा समेत लगभग दो दर्जन संगठनों के प्रतिनिधि मंडलों से सीधा संवाद कर स्थानीय मुद्दों पर चर्चा करेंगे। जनपद आगमन पर अजित सिंह का भव्य स्वागत किया जाएगा। 15 अप्रैल को रालोद कैंप कार्यालय बाउंड्री रोड पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे। किसान संगठनों से संवाद करेंगे। 16 अप्रैल को विभिन्न सामाजिक संगठनों व प्रतिनिधि मंडलों से सर्किट हाउस में जनसंवाद करेंगे।

राष्ट्रीय लोकदल की इस कवायद को अपने खोए वोट बैंक को प्राप्त करने के साथ ही समाज के विभिन्न तबकों के संपर्क में आने से जोड़कर देखा जा रहा है। प्रेस वार्ता के दौरान पार्टी प्रवक्ता सुनील रोहटा, राष्ट्रीय महासचिव डाॅ. मैराजुद्दीन, राजेन्द्र शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष सैनिक प्रकोष्ठ राममेहर सिंह गुर्जर, प्रदेश अध्यक्ष सैनिक प्रकोष्ठ कर्नल ब्रह्मपाल तोमर, राजेन्द्र सिंह चिकारा, ऐनुद्दीन शाह, कमलजीत सिंह गुर्जर, सुभाष प्रमुख, पप्पू प्रमुख, यशवीर सिंह, नरेन्द्र खजूरी, रणबीर दहिया आदि रहे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper