अपराध और धर्म का अनोखा गठजोड़, पटना का मर्डरर अयोध्या का नामी संत

अखिलेश अखिल

पुण्य की नगरी भले आम लोगों के लिए धार्मिक स्थल हो लेकिन अपराधियों के लिए यही नगरी किसी पनाहगाह से कम नहीं। अपराधी यहां आकर अपने अपराध को छुपाता रहा है। अभी हाल में पटना पुलिस ने अयोध्या से जिस अपराधी को दबोचा है वह कोई और नहीं मर्डर केस का आरोपित सुरेश सिंह है जो पिछले 30 साल से साधू के भेष में अयोध्या स्थित साकेत भवन का महंत बन बैठा था। बड़ी बड़ी दाढ़ी ,लम्बे लम्बे सफ़ेद बाल और रामनामी चन्दन लगाए इस अपराधी को अयोध्या के संत समाज में बड़ी इज्जत मिलती थी। यह राम मंदिर का भी उपासक था और मंदिर आंदोलन में सक्रिय भी। अब पटना पुलिस की टीम ने अयोध्या से 37 साल से मर्डर केस के आरोपित व सजायाफ्ता सुरेश सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।

सुरेश सिंह अयोध्या में महंतगिरी कर रहा था। अब वह पटना पुलिस के हवाले है। खबर के मुताबिक़, सुरेश सिंह बिहटा के नेऊरा का रहने वाला हैै। 1981 में इसने गांव के ही सुगन सिंह की हत्या कर दी थी। उसे उम्रकैद की सजा भी हुई और जेल की सजा भी। बाद में जमानत पर छूटा और भाग निकला। पहुँच गया अयोध्या। अयोध्या पहुंचकर साकेत भवन में शरण पाया। साकेत भवन के महंत की काफी सेवा की और बाद में अपने महंत को भी गायब कर स्वयं वहाँ का महंत बन बैठा। अपने गुरु महंत को गायब करने का मुकदमा भी अयोध्या में सुरेश सिंह पर दर्ज है।

पटना से जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक़, जमानत पर रिहा होने के बाद जैसे ही सुरेश सिंह भागा, अपने परिजनों से भी सम्बन्ध तोड़ लिया। परिजनों को भी उसके बारे में कोई जानकारी नहीं रही। कुछ दिनों तक घर के लोगों ने उसकी जानकारी लेने की कोशिश की लेकिन बाद में सब यह मानकर बैठ गए कि शायद अब वह इस दुनिया में नहीं रहा। इस बीच पटना पुलिस पर बार बार अदालत का दबाब बढ़ता जा रहा था कि वह अपराधी सुरेश सिंह को गिरफ्तार करे। लेकिन उसकी कोई जानकारी किसी को नहीं मिलती।

इसके बाद एसएसपी मनु महाराज ने एक विशेष टीम का गठन किया। इसी बीच कई वर्षों के बाद सुरेश सिंह ने एक परिजन से काॅन्टैक्ट किया। उसी का सहारा लेकर पुलिस अयोध्या पहुँच गयी। पुलिस जब साकेत भवन पहुंची तो वहाँ एक साधू मिला जो वहाँ का महंत कहलाता था। पहले की उसकी सारी पहचान खत्म सी हो गयी थी। चेहरे बदल गए थे और बातों में धर्मिकता आ गयी थी। जांच के बाद अपराधी से महंत बने सुरेश सिंह पुलिस के जाल में फंस गए और पकड़े गए। सुरेश सिंह अब बिहार पुलिस के पास हैं और उससे पूछताछ जारी है।

अयोध्या से अपराधी सुरेश सिंह का पकड़ा जाना कोई नयी बात नहीं है। और ना ही यह कोई नयी बात है कि अयोध्या समेत तमाम धार्मिक स्थलों में अपराधी किस तरह से छद्म भेष में साधू बनकर रह रहे हैं। माना जा रहा है कि यूपी और बिहार के बहुत सारे अपराधी अयोध्या में साधू संतों की तरह जीवन काट रहे हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper