अपर्णा यादव के बीजेपी में जाने पर अखिलेश यादव का बयान

लखनऊ: अपर्णा यादव के बीजेपी में जाने पर अखिलेश यादव का बयान आ गया है. उन्होंने कहा कि अपर्णा यादव को नेताजी (मुलायम सिंह यादव) ने काफी समझाया था. लेकिन वह नहीं मानीं. उन्होंने अपर्णा को बीजेपी में जाने की बधाई भी दी. क्या अखिलेश विधानसभा चुनाव लड़ेंगे? इस सवाल पर वह बोले कि मैं आजमगढ़ की जनता से अनुमति से ही चुनाव लडूंगा. ऐसा इसलिए क्योंकि वहां के लोगों ने हमें जिताया था. बता दें कि अखिलेश आजमगढ़ से सांसद हैं. बुधवार को ही उनके विधानसभा चुनाव लड़ने की चर्चा सामने आई थी.

अखिलेश यादव ने यह वादा भी किया कि उनकी सरकार बनने पर समाजवादी पार्टी पेंशन योजना को फिर से शुरू किया जाएगा. इसमें जरूरतमंद महिला को सालाना 18 हजार रुपये दिए जाएंगे. पिछली सपा सरकार में 6 हजार रुपये दिए जाते थे. अखिलेश बोले कि सबसे ज्यादा अकाउंट (खाते) सपा ने खुलवाए थे, सबसे ज्यादा बैंक की ब्रांच और अकाउंट में सीधे पैसा जाने का काम भी सपा में हुआ था.

अपर्णा से जुड़े सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि सबसे पहले मैं बधाई और शुभकामना दूंगा, सपा विचारधारा का विस्तार हो रहा है. मुझे उम्मीद है वहां भी हमारी विचारधारा होगी. नेता जी ने उन्हें बहुत कोशिश की समझाने की. अपर्णा क्या टिकट नहीं मिलने पर गईं? इसपर अखिलेश बोले टिकट अभी पूरे नही बांटे हैं, यह इंटरनल रिपोर्ट और जनता के मन पर निर्भर होता है कि किसे टिकट मिलेगा और किसे नहीं.

अखिलेश ने पत्रकारों के सवाल पर आगे कहा कि मैंने कहा था बीजेपी वालों को अब हम नहीं लेंगे. अगर हमारे उनके टच में हैं तो उनके भी हमारे टच में हैं. योगी सरकार पर हमला बोलते हुए अखिलेश ने कहा कि गाय मां भूखी है और जो उसे भूखा रखता है, उसे पाप पड़ता है. अखिलेश यादव ने सपेरे समाज के लोगों का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि भारत की पुरानी छवि भी सपेरों वाले देश की है. वह बोले कि अगर 2022 में सपा सरकार बनी तो आगरा एक्सप्रेसवे के पास Snake charmers village बनेगा.

अखिलेश ने यह भी बताया कि सुप्रीम कोर्ट के सीनियर अधिवक्ता भानु प्रताप सिंह की राष्ट्रीय जनहित संघर्ष पार्टी समाजवादी पार्टी में शामिल हो रही है. बता दें कि सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, जनवादी पार्टी (सोशलिस्ट),राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी),अपना दल (कमेरावादी), प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया), महान दल, टीएमसी से भी यूपी चुनाव के लिए सपा ने गठबंधन किया हुआ है.

इससे पहले अपर्णा यादव के बीजेपी में आने के बाद जब अखिलेश यादव के बारे में सवाल किया गया था तो उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी थी. अपर्णा से पूछा गया कि क्या अखिलेश यादव, सपा राष्ट्रधर्म को नहीं निभाती? इसपर अपर्णा ने कहा कि वह परिवार से विमुख होकर कोई बात नहीं कहना चाहतीं. वह बोली कि यह मेरा निजी विचार है कि पिछले पांच सालों में जिस तरह से प्रदेश में सीएम योगी ने काम किया है, जितनी स्कीम आई हैं वह प्रभावशाली है. उन्होंने पीएम मोदी की भी तारीफ की थी.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper