अपर्णा यादव ने बोला सपा पर हमला, कहा- योगी सरकार में अपनी जान की भीख मांग रहे गुंडे

बाराबंकी । समाजवादी पार्टी छोड़कर आने वाली मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा को बीजेपी ने चुनाव प्रचार में उतार दिया है। लखनऊ से सटे बाराबंकी में उन्होंने चुनाव प्रचार किया।प्रचार के दौरान अपर्णा यादव ने कहा कि सपा के गुंडे योगी सरकार में अपनी जान की भीख मांग रहे है। अपर्णा ने कहा कि जिस तरह से उनके ससुर और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आशीर्वाद दिया, उसी तरह आप सब बीजेपी को आशीर्वाद दीजिए जिससे प्रदेश में फिर योगी आदित्यनाथ की सरकार बन सके। उन्होंने कहा कि जब राजपूतों की सेनाएं युद्ध के लिए निकलती थीं,तब यादव उनका नेतृत्व किया करते थे। अब समय आ गया है कि पूरी यादव बिरादरी भाजपा का साथ देकर पीएम मोदी और सीएम योगी के हाथों को मजबूत करे।उन्होंने भाजपा की तमाम योजनाओं का जिक्र किया। महिलाओं की सुरक्षा को लेकर योगी सरकार की सराहना की.

भाजपा नेता अपर्णा यादव ने दो जनसभाएं कर यादव बिरादरी की शान में जमकर कसीदे पढ़े। वहीं पत्रकारों ने पूछा कि आपको यह बार-बार क्यों बताना पड़ रहा है कि मैं यादव हूं।इसके जबाव में अपर्णा यादव ने कहा कि हां मैं यादव हूं, तब मैं और क्या कहूं। वहीं जब अपर्णा से सवाल किया गया कि एक तरफ भाजपा कहती है, कि विकास उनका मुद्दा है, तब फिर जातिवाद की राजनीति क्यों? उन्होंने कहा कि विकास भाजपा का मुद्दा है। वह इससे मना नहीं कर रहीं, लेकिन वह यादव हैं और यह भी एक तथ्य है। उन्होंने कहा कि यादव अपने स्वाभिमान को पहचान कर राष्ट्रवाद और विकास का साथ दें।

दरअसल अपनी सभी के दौरान अपर्णा ने लगातार यादव वोटों को बार-बार साधन की कोशिश की। बार-बार वह खुद को यादव बताती नजर भी आईं।उन्होंने यादव बिरादरी के लोगों से आह्वाहन किया कि धर्मयुद्ध में भाजपा के राष्ट्रवाद के रथ पर सवार होकर पूरे जिले में कमल खिलाकर भाजपा को बड़ी जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं।अपर्णा यादव ने बाराबंकी जिले में सदर विधानसभा प्रत्याशी अरविंद मौर्य के नामांकन से पहले दो सभाओं को संबोधित कर जनसंपर्क किया।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper