अफगानिस्तान के माध्यमिक, उच्च विद्यालय लड़कों के लिए फिर से खुले

काबुल: अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के एक महीने बाद अफगानिस्तान में लड़कों के लिए माध्यमिक और उच्च विद्यालयों के साथ-साथ मदरसे फिर से खुल गए हैं। शिक्षा मंत्रालय ने यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, मंत्रालय ने रविवार को अपनी घोषणा में हालांकि यह नहीं बताया कि लड़कियों के लिए स्कूल कब फिर से खुलेंगे।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “सभी निजी और सरकारी माध्यमिक, उच्च विद्यालयों और मदरसों या धार्मिक स्कूलों के छात्रों और पुरुष शिक्षकों को अफगानिस्तान के सभी 34 प्रांतों के स्कूलों में लौटने के लिए कहा गया है।” लड़के और लड़कियों के लिए प्राथमिक स्कूल पहले ही फिर से खुल गए हैं और सरकार द्वारा संचालित विश्वविद्यालय बंद हैं।

मंत्रालय ने रविवार को एक अन्य बयान में कहा कि सभी पुरुष कर्मियों को अपनी ड्यूटी पर लौटना चाहिए और सोमवार से अपने कार्यालयों में उपस्थित होना चाहिए। लड़कियों के लिए माध्यमिक और उच्च विद्यालयों के निरंतर बंद रहने से अफगान महिलाओं में चिंता पैदा हो गई है, जिन्होंने इस निर्णय को महिला अधिकारों का उल्लंघन करार दिया है।

नौवीं कक्षा की छात्रा नादिया ने कहा, “मैं भविष्य में डॉक्टर बनना चाहती हूं लेकिन मुझे शिक्षा से वंचित करना मेरे सपने पर पानी फेर देगा।” उन्होंने कहा, “स्कूल जाना और शिक्षा प्राप्त करना मेरा अधिकार है।” तालिबान नेताओं ने बार-बार कहा है कि अफगान महिलाओं और लड़कियों को अध्ययन और काम करने का अधिकार है लेकिन वे इसे सिर्फ शरिया या इस्लामी कानून के ढांचे के भीतर कर सकती हैं।

अफगान महिलाओं ने देश से घर से बाहर पढ़ाई और काम सहित उनके अधिकारों को सुनिश्चित करने की मांग की है। तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा है कि लड़कियों के स्कूल फिर से खुलेंगे और नवगठित कार्यवाहक सरकार इस प्रक्रिया पर काम कर रही है कि लड़कियों के लिए कक्षाओं और शिक्षकों को कैसे अलग किया जाए।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper