अब प्रगति की राह पर सरपट दौड़ेगा उत्तर प्रदेश

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में यूपी इन्वेस्टर्स समिट-2018 का आयोजन शुरु हो गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसका उदघाटन किया। इस समिट में मुकेश अंबानी, रतन टाटा, गौतम अडानी समेत देश के 5000 बड़े उद्योगपति समेत दुनिया के कई देशों के प्रतिनिधि भी शामिल हुए हैं। सबसे पहले प्रदेश के उद्योगपति विकास मंत्री सतिश महाना ने समिट का आगाज करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, प्रदेश के राज्यपाल रामनाइक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ सहित सभी इस इन्वेस्टर्स समिट मौजूद हुईं हस्तियों का स्वागत किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में मुकेश अंबानी ने उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। उन्होंने संबोधित करते हुए कार्यक्रम का भूरी-भूरी प्रशंसा करते हुए कहा कि मैंने अभी तक इस तरह किसी कार्यक्रम के लिए राजधानी को सजे हुए नहीं देखा। हम सभी मिलकर उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने के सपने को पूरा करेंगे। उन्होंने कहा कि यूपी को योगी आदित्यनाथ जैसा कर्मयोगी सीएम मिला है, जो विकास में आगे बढ़ेगा। अगर यूपी विकास में आगे बढ़ेगा तो कोई भी ताकत देश को आगे बढ़ने से नहीं रोक सकती है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जियो यूपी में अभी तक 20 हजार करोड़ रुपए का इन्वेस्ट कर चुका है। दिसंबर 2018 तक जियो यूपी के हर गांव में मौजूद होगा। अंबानी ने कहा कि जियो अगले तीन साल में 10 हजार करोड़ रुपए का निवेश करेगा। अगले 2 महीनों में दो करोड़ जियो फोन यूपी को दिए जाएंगे। अगले तीन साल में 1 लाख से ज्यादा नौकरियां देंगे। उन्होंने कहा कि गंगा हम सभी की मां है, हमारी कंपनी गंगा को साफ करने के लिए सरकार के साथ काम करना चाहती है।

सिर्फ 5 उद्योगपति ने ही कर दिया एक लाख करोड़ से अधिक का निवेश

इस दौरान बड़े उद्योगपति गौतम अडानी ने उत्तर प्रदेश में 35,000 करोड़ के निवेश का एलान किया है। इसके साथ अडानी ने पीएनबी घोटाला पूरे सिस्टम कोसा है। उनका तर्क है कि सिस्टम की कमी के कारण इतना बड़ा घोटाला हुआ और इसके लिए सब लोग जिम्मेदार है। अडानी ग्रुप के प्रमुख ने समिट को संबोधित करते हुए पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व की तारीफ की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अगले पांच सालों में वो 35,000 करोड़ का निवेश करेंगे। पीएम मोदी की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा, “जब आप 2002 में गुजरात में सत्ता में आया थे तब आप ही थे जिन्होंने सुधार करने की प्रक्रिया को पहली बार शुरू किया था। ये विकास के एजेंडे पर आधारित था। आपने 2003 में रिसर्च के वैसे प्रोग्राम शुरू करवाए जिसके बारे में किसी मे सोचा भी नहीं था।”

अपोलो हास्पिटल ग्रुप की चेयरमैन ने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा प्रदेश है जहां अपनी संभावनाओं की तलाश करने 66 सीईओ आये है। मैं स्किल डेवलपमेंट के माघ्यम से ज्यादा से ज्यादा बच्चों को रोजगार उपलब्ध कराने में मदद करेगी। इसके लिये हम चार स्किल कालेज खोलेंगे। जहां पर बच्चों को रोजगार के लिये तैयार किया जायेगा।

देश के 5000 बड़े उद्योगपति हुए शामिल

टाटा ग्रुप के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने कहा कि यूपी में विकास की अपार संभावनायें है। यहां पर 30 हजार लोगों को हम रोजगार देने के लिये तत्पर है टीसीएस ग्रुप को हम लखनऊ में और समृद्ध करेंगे। टीसीएस लखनऊ में अपनी सर्विसेज जारी रखेगी और लखनऊ में अपनी उपस्थिति को ज्यादा मजबूत करेगी। उत्तर प्रदेश के सभी क्षेत्रों में चौतरफा विकास के क्षेत्र में हम सरकार के साथ मिलकर काम करेंगे। जी बिजनेस ग्रुप के सुभाष चंद्रा जी ने कहा पहला कार्यक्रम होने के बाद भी बहुत जी नेटवर्क टेलीविजन के माधयम से लोगों से जुड़ा है। महिंद्रा एण्ड महिंद्रा के चेयरमैन आनन्द महिंद्रा ने कहा कि यूपी से हमारा पुराना नाता है मेरी माता जी का जन्म इलाहाबाद में हुआ और लखनऊ में मेरी माता जी एक स्कूल में अध्यापक रही हैं। मैं मुसाफिर हूं वापस घर आ गया। उत्तर प्रदेश को यूपी की तरह नहीं दूसरे देश की तरह देखना चाहिए। 25 हज़ार करोड़ निवेश करेंगे।

आदित्य बिरला ग्रुप के कुमार मंगलम बिडला ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश को नया भारत बना दिया। उनके प्रयासो से बिरला ग्रुप यूपी में मेजर इनवेस्टमेंट कर रहा है। यूपी में विकास के लिये उधोंगों के लिये अच्छा माहौल और परिवहन का साधन है। यूपी में बडी मात्रा में मानव संसाधन है। हिंडाल्को, सीमेंट समेत 25 हजार करोड़ रुपये का इंवेस्टमेंट करेगा तथा एक लाख से अधिक लोगों को रोजगार देगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper