अब बिना पास घर से निकल सकेंगे आप, लॉकडाउन में इन कामों के लिए मिल सकती है छूट

जयपुर: देश में लगे लॉक’डाउन के तीसरे चरण में सर्कार ने कई कामों में सशर्त छूट दी है, जिसके लिए पहले आपको सरकार से पास बनवाना होता है। हालांकि, राजस्थान सरकार ने इस पास व्यवथा में बदलाव किए है। अब आप राजस्थान सरकार से से अनुमति प्राप्‍त कामों के लिए बिना रोक-टोक पूरे प्रदेश में कही भी आ जा सकते हैं।

दरअसल, राजस्‍थान सरकार ने सूबे की पास व्‍यवस्‍था में सरलीकरण कर नई व्‍यवस्‍था लागू की है, जिसके तहत, सरकार ने पास जारी करने का अधिकार गृह विभाग से वापस ले लिया गया है। अब पास जारी करने के आधिकार स्‍थानीय कलेक्‍टर, पुलिस अधीक्षक, उपजिलाधिकारी, तहसीलदार और एचएचओ के पास होगा।

कर्फ्यू क्षेत्रों में नहीं मिलेगी छूट
राजस्थान में अब सरकार द्वारा अनुमति प्राप्त गतिविधियों के लिए जिले के भीतर और जिले से बाहर आवागमन के लिए किसी पास की आवश्यकता नहीं रहेगी। ये छूट सुबह 7 बजे से लेकर शाम 7 बजे तक रहेगी। हालांकि कर्फ्यू क्षेत्र में किसी तरह की कोई छूट नहीं दी जाएगी। राज्य में ये व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू कर दी गई है।

ऐसी है नई व्यवस्था
सराकार से अनुमति प्राप्त गतिविधियों के लिए जिले के भीतर और एक जिले से दूसरे जिले में आवागमन के लिए पास की अनिवार्यता हटा दी गई है। सुबह 7 बजे से शाम 7 बजे तक ही यह छूट रहेगी।
दूसरे राज्यों में खुद के वाहनों से जाने वाले लोगों को कलेक्टर, एसपी, एसडीएम, डिप्‍टी एसपी, तहसीलदार, आरटीओ, डीटीओ और एसएचओ पास जारी कर सकेंगे।
जिला उद्योग अधिकारी, एसई माइनिंग, महाप्रबंधक डीआईसी, रीको के जिला स्तरीय अधिकारी व अन्य जिला स्तरीय अधिकारी अपने विभाग से जुड़ी गतिविधियों के लिए पास जारी कर सकेंगे। इन सभी अधिकारियों को जारी किए गए पासों की जानकारी प्रतिदिन जिला कलेक्टर को देनी होगी।
दूसरे राज्यों में बस ट्रेन से यात्रा के लिए कलेक्टर पास जारी कर सकेंगे।
कर्फ्यू एरिया के लिए केवल कलेक्टर ही पास जारी कर सकेंगे।
अन्य प्रदेशों से राजस्थान आने वालों के लिए संबंधित राज्य द्वारा जारी पास मान्य होगा। यदि वह राज्य राजस्थान की एनओसी मांगता है, तो संबंधित कलेक्टर एनओसी जारी कर सकेंगे।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper