अब श्रीलंका के चिड़ियाघर में शेर हुआ कोरोना संक्रमण, भारत से मदद मांगी

 

कोलंबो: श्रीलंका प्राणी उद्यान के अधिकारियों ने यहां के एक चिड़ियाघर में एक शेर के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद भारत से सहायता मांगी है। यहां राष्ट्रीय प्राणी उद्यान के प्रमुख ने कहा कि वे ‘थोर’ नाम के 11 वर्षीय एक शेर के इलाज के लिए भारत के केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के संपर्क में हैं।

महानिदेशक इशिनी विक्रमसिंघे ने एक बयान में कहा, ”हम भारतीय केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के साथ नियमित रूप से संपर्क में हैं और चिड़ियाघर में कर्मचारियों और अन्य जानवरों को संक्रमित होने से रोकने के लिए निवारक उपाय करने के उनके निर्देशों का पालन कर रहे हैं।
हम शेर को अलग-थलग रखते हुए उसका इलाज कर रहे हैं।” शेर को 2013 में दक्षिण कोरिया के सियोल शहर के चिड़ियाघर से कोलंबो चिड़ियाघर लाया गया था। उन्होंने कहा कि शेर को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, लेकिन प्रारंभिक एंटीजन जांच का परिणाम नकारात्मक था।

उन्होंने कहा कि कई अन्य पीसीआर परीक्षणों के बाद, शेर के कोविड-19 संक्रमित होने की पुष्टि हुई। भारत में, कोविड-19 से संक्रमित 12 वर्षीय एक एशियाई शेर की बुधवार को चेन्नई में वंडालूर के पास अरिग्नार अन्ना ज्यूलॉजिकल पार्क के सफारी क्षेत्र में मौत हो गई थी। इससे पहले तीन जून को कोरोना वायरस संक्रमण के चलते चिड़ियाघर में नौ वर्षीय एक शेरनी की मौत हो गई थी और अब तक कुल 14 में से सात शेर संक्रमित हो चुके हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- -----------------------------------------------------------------------------------------
----------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper