अब हाफिज को दुनिया से छिपाना चाहता है पाकिस्तान, मीडिया कवरेज पर लगाई पाबंदी

लाहौर: पाकिस्तान ने जमात-उद-दावा के चीफ हाफिज सईद को रिहाई दे दी है। लेकिन अब वह अपनी इस करतूत पर पर्दा डालना चाहता है। यही वजह है कि पाकिस्तान की सरकार ने हाफिज की मीडिया कवरेज पर बैन लगा दिया है। लाहौर में आज होने वाले हाफिज के संबोधन का कवरेज न करने के निर्देश दिए गए हैं।

बता दें कि हाफिज की रिहाई पर भारत समेत दुनिया के कई मुल्कों ने कड़ा ऐतराज जताया है। उस पर अमेरिका पहले ही एक करोड़ डॉलर का इनाम घोषित कर चुका है। अब पाकिस्तान यह नहीं चाहता कि दुनिया भर में हाफिज की वजह से उसकी किरकिरी हो। जबकि जेल से बाहर आते ही हाफिज ने भारत के खिलाफ जहर उगलना शुरू कर दिया है। उसने अपनी रिहाई को अपने निर्दोष होने का सबूत बताया है। उसने कहा, मैं बहुत खुश हूं कि मेरे खिलाफ कोई आरोप साबित नहीं हुआ। भारत ने मेरे खिलाफ आधारहीन आरोप लगाये हैं।

सईद ने कहा कि भारत के अनुरोध पर अमेरिका ने पाकिस्तान पर दबाव बनाया था कि उसे हिरासत में लिया जाये। उसके आवास के बाहर जमा हुए समर्थकों से उसने कहा कि सिर्फ कश्मीर पर मेरी आवाज को दबाने के लिए 10 महीने तक मुझे हिरासत में रखा गया।

बता दें कि पंजाब प्रांत के न्यायिक समीक्षा बोर्ड ने सईद की 30 दिनों की नजरबंदी की अवधि पूरी होने के बाद आम सहमति से उसकी रिहाई का आदेश दिया था। इस बोर्ड में लाहौर हाईकोर्ट के न्यायाधीश भी शामिल हैं। रिहाई के कुछ ही क्षण बाद ही हाफिज सईद ने कहा कि वह कश्मीर के लिए पूरे पाकिस्तान से लोगों को जुटाएगा और आजादी पाने में कश्मीरियों की मदद करेगा।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper