अब UP सरकार का ट्विटर अकाउंट हैक, किए गए अजीबोगरीब Tweets

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार का आधिकारिक ट्विटर अकाउंट सोमवार को हैक कर लिया गया। शनिवार को मुख्यमंत्री कार्यालय का ट्विटर अकाउंट हैक हुआ था, जिसके बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार का ट्विटर अकाउंट हैक हुआ है।

सोमवार को उत्तर प्रदेश हैंडल के आधिकारिक अकाउंट से अजीबोगरीब ट्वीट किए गए। इसके तुरंत बाद ट्वीट्स को हटा दिया गया। एक ट्वीट में लिखा गया, बीन्ज आधिकारिक कलेक्शन के प्रकट होने के जश्न में, हमने अगले 24 घंटों के लिए समुदाय के सभी सक्रिय एनएफटी व्यापारियों के लिए एक एयरड्रॉप खोल दिया है! अपने बीन का दावा करें। रेड बीन ले लो दोस्तों।

बाद के ट्वीट्स में, कई रेंडम अकाउंटस को टैग किया गया था। यूपी सीएमओ के आधिकारिक ट्विटर पर हैकर्स द्वारा कब्जा किए जाने के बाद, खाते से 400-500 से अधिक ट्वीट किए गए। हैकर्स ने ट्विटर हैंडल से मुख्यमंत्री की डिस्प्ले पिक्च र भी हटा दी थी। इस संबंध में लखनऊ के साइबर थाने में अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ आईटी एक्ट की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।

 

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------ -------------------------------------------------------- ------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------- --------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------   ----------------------------------------------------------- -------------------------------------------------- ----------------------------------------------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper