अमिताभ ठाकुर धमकी मामले में मुलायम को क्लीनचिट

लखनऊ: आईपीएस अमिताभ ठाकुर को फोन पर दी गई धमकी मामले में पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव को क्लीन चिट देते हुए अदालत में एक बार फिर से अंतिम रिपोर्ट दाखिल की गई। साथ ही झूठा मुकदमा दर्ज कराने के लिए अमिताभ को आईपीसी की धारा 182 के तहत दंडित करने की मांग इस रिपोर्ट में की गई है। सीजेएम आनंद प्रकाश सिंह ने फिलहाल इस अंतिम रिपोर्ट पर सुनवाई के लिए 15 नवंबर की तारीख तय की है।

अदालत में सीओ बाजारखाला अनिल कुमार यादव ने इस मामले की पुनर्विवेचना के बाद अपनी अंतिम रिपोर्ट दाखिल की। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस अपराध के समर्थन में सुसंगत साक्ष्य नहीं होने के कारण इस मुकदमे में पूर्व में भेजे गए अंतिम रिपोर्ट का समर्थन किया जाता है और विवेचना समाप्त की जाती है। 12 अक्टूबर 2015 को भी इस मामले की विवेचना के बाद थाना हजरतगंज के उपनिरीक्षक कृष्णनंदन तिवारी ने अंतिम रिपोर्ट दाखिल किया था। साथ ही अमिताभ को झूठा अभियोग दर्ज कराने के लिए दंडित करने की मांग भी की थी, लेकिन अमिताभ ने पुलिस की इस अंतिम रिपोर्ट को जरिए प्रोटेस्ट अर्जी चुनौती दी।

20 अगस्त 2016 को उनकी प्रोटेस्ट अर्जी मंजूर करते हुए अदालत ने अंतिम रिपोर्ट को खारिज करते हुए इस मामले की पुनर्विवेचना का आदेश दिया था। 26 जुलाई 2018 को अदालत के आदेश से इस मामले के दूसरे विवेचक क्षेत्राधिकारी बाजारखाला अनिल कुमार यादव ने विवेचना की कड़ी में मुलायम की आवाज का नमूना लेने उनके आवास गए।

मुलायम ने अपनी आवाज का नमूना देने से इंकार कर दिया था, लेकिन यह स्वीकार किया था कि आवाज उन्हीं की है और मैने सिर्फ बड़ा होने के नाते अमिताभ को समझाया था। मेरी मंशा उन्हें धमकी देने की नहीं थी। अमिताभ ने बढ़ा-चढ़ा कर आरोप लगाया है। 10 जुलाई 2015 की इस घटना के संबध में अमिताभ की अर्जी पर अदालत के आदेश से मुलायम के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper