अमित शाह, राजनाथ ने योग दिवस पर राहुल के ट्वीट की निंदा की

नई दिल्ली: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को राहुल गांधी की उनके उस ट्वीट के लिए निंदा की, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘न्यू इंडिया’ नारे का योग दिवर पर मजाक उड़ाया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष नकारात्मकता से भरे हैं और उन्होंने सशस्त्र बलों का अपमान किया। शाह ने राहुल के ट्वीट के जवाब में ट्वीट किया, “कांग्रेस नकारात्मकता से भरी है। आज उनकी नकारात्मकता मध्ययुगीन तीन तलाक की परंपरा के समर्थन में स्पष्ट रूप से दिखी। अब उन्होंने योग दिवस का मजाक उड़ाया और हमारे सशस्त्र बलों का अपमान किया। आशा करता हूं कि सकारात्मकता की भावना की जीत होगी। यह सबसे कड़ी चुनौतियों से उबरने में मददगार हो सकती है।”

राहुल गांधी ने इसके पहले भारतीय सेना और उसके विशिष्ट स्वान दस्ते (डॉग स्क्वायड) के योग करते दिख रही तस्वीर पोस्ट कर मजाक उड़ाया था। उन्होंने कुत्तों और उनके उस्तादों द्वारा योग करते हुए दो तस्वीरें ट्वीट की थीं। केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी राहुल के ट्वीट के लिए उनकी निंदा की।

राजनाथ ने ट्वीट किया, “राहुल गांधीजी ये भारतीय सेना के गौरवशाली सदस्य हैं और वे हमारे राष्ट्र की सुरक्षा में योगदान करते हैं। जब कोई बार-बार सशस्त्र बलों का अपमान करता रहता है तो उसके बारे में सिर्फ यही प्रार्थना की जा सकती है कि भगवान उसे सदबुद्धि दें।” केंद्रीय खेल राज्यमंत्री किरेन रिजीजू ने भी राहुल गांधी की निंदा की।

उन्होंने ट्वीट किया, “मेरे पास इसकी निंदा करने के लिए शब्द नहीं हैं। मुझे भरोसा नहीं होता कि कोई हमारे सशस्त्र बलों का उपहास कर सकता है! लेकिन कांग्रेस पार्टी और टुकड़े-टुकड़े गैंग के लिए अपमान, गाली और हमारे सशस्त्र बलों पर सवाल उठाना कोई नया नहीं है।”

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper