अमृतसर हादसाः पुतिन, जस्टिन समेत पाक प्रधानमंत्री ने जताया शोक

नई दिल्ली:अमृतसर में हुए रेल हादसे पर रुस के राष्ट्रपति ब्लीदीमीर पुतिन ने भी गहरा शोक प्रकट किया है। पुतिन ने राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को शोक संदेश भेजकर दुर्घटना पर दुख प्रकट किया। कनाडा और पाक के प्रधानमंत्रियों ने भी घटना पर खेद जताया है।

पुतिन ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भेजे शोक संदेश में रेल हादसे पर दुख प्रकट किया और दुर्घटना में जान गंवा देने वाले लोगों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी इस दुर्घटना पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीटर पर जारी शोक संदेश में कहा कि अमृतसर रेल हादसे की खबर सुनकर वह दुखी हैं। पाक प्रधानमत्री ने हादसे के शिकार लोगों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना जाहिर की।

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भी हादसे पर शोक व्यक्त करते हुए इस दुर्घटना में अपने परिजनों को खोने वाले लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त की। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि दुख की इस घड़ी में कनाडा की जनता की भावनाएं अमृतसर हादसे के पीड़ितों के साथ हैं। उन्होंने दुर्घटना में घायल लोगों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना की।

उल्लेखनीय है कि अमृतसर के चौरा बाजार में रेल पटरी के समीप ही दशहरा के अवसर पर शुक्रवार शाम को रावण दहन किया जा रहा था। इस अवसर पर बड़ी तादाद में लोग वहां जुटे थे और रेल पटरी के आसपास खड़े हो रावण दहन देख रहे थे ।

इस बीच जालंधर से अमृतसर जा रही डीएमयू ट्रेन तेज रफ्तार से आई और बड़ी तादाद में लोगों को अपनी चपेट में लेते हुए गुजर गई। ट्रेन को वहां से गुजरने में कुछ ही सेकेंड लगे| ट्रेन के गुजरते ही क्षत-विक्षत शव दूर-दूर तक बिखर गए और घायलों की चीख-पुकार मच गई। इस हादसे में अब तक 59 लोगों से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 57 लोग घायल हैं।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper