अयोध्या एक बार फिर सुरक्षाबलों के हवाले

लखनऊ ब्यूरो। विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) की धर्मसभा और शिवसेना के कार्यक्रमों को देखते हुए अयोध्या एक बार फिर सुरक्षाबलों के हवाले कर दिया गया है। विवादित राम जन्मभूमि और उसके आस-पास अधिग्रहीत परिषद की सुरक्षा में यूं तो चार कंपनी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, 12 कंपनी पीएसी और करीब 450 नागरिक पुलिस के जवान हर समय मुस्तैद रहते हैं लेकिन 24 और 25 नवम्बर को शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे के कार्यक्रमों और 25 नवम्बर को विहिप की धर्मसभा को देखते हुए सुरक्षाबलों की संख्या और बढ़ा दी गई है।

अपर पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने शुक्रवार को बताया कि इन कार्यक्रमों से पहले शुक्रवार को कार्तिक पूर्णिमा का स्नान है। इसमें लाखों श्रद्धालु सरयू नदी में डुबकी लगाते हैं। कार्तिक पूर्णिमा और शिवसेना व विहिप के कार्यक्रमों के चलते अयोध्या की सुरक्षा में पहले से तैनात सुरक्षा कर्मियों के अलावा अर्ध-सैनिक बलों की सात कंपनी तैनात की गई है।

इसके अलावा, अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के छह अधिकारी, 16 पुलिस उपाधीक्षक, 30 निरीक्षक, 250 उपनिरीक्षक बारा थानाप्रभारी 15 महिला उप निरीक्षक, 650 सिपाही, 50 महिला सिपाही, छह कंपनी पीएसी और दो कंपनी आरएएफ को तैनात किया गया है। यह सुरक्षाकर्मी स्थानीय पुलिस की मदद के लिए तैनात किए गए हैं।

आनन्द कुमार ने बताया कि किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी। राम जन्मभूमि और उसके आस-पास अधिग्रहित परिसर में सुरक्षा के दृष्टि से पैनी नजर रखी जा रही है। अयोध्या में पर्याप्त संख्या में खुफिया संगठन के लोग भी तैनात हैं। संदिग्धों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।

अयोध्या आने वाले अति विशिष्ट लोगों की सुरक्षा पर खास नजर है। उन्होंने बताया कि उद्धव ठाकरे के आशीर्वाद समारोह स्थल लक्ष्मण जिला मंदिर पर भी सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए हैं। ठाकरे शनिवार को विशेष विमान से अयोध्या पहुंचेंगे। वे फैजाबाद शहर में स्थित हवाई पट्टी पर दोपहर बाद आएंगे, जहां से सड़क मार्ग से उन्हें अयोध्या के लक्ष्मण किला मंदिर में ले जाया जाएगा।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, लक्ष्मण किला मंदिर मंदिर में सच बुलवाने के लिए लोगों को ले जाया जाता है। वहां कोई झूठी कसम नहीं खा सकता। लक्ष्मण किलाधीश के अनुसार मंदिर में झूठी कसम खाने वालों का काफी नुकसान हो जाता है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें...
Loading...
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper