अलवर के सरिस्का जंगल में आग का कहर; 20 घंटे से काबू पाने की कोशिश में जुटे वायुसेना के हेलिकॉप्टर, 300 अधिकारी-कर्मचारी

अलवर। राजस्थान के अलवर स्थित सरिस्का के जंगलों में लगी भीषण आग के चलते जहां आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो रहा है। बड़ी संख्या में जीव-जंतु भी इस आग की चपेट में आ रहे हैं। आग करीब 20 किलोमीटर जंगल में फैल चुकी है और आबादी वाले क्षेत्रों की ओर बढ़ रही है, जिसके चलते ग्रामीण भी परेशान है। इस वन क्षेत्र में करीब 27 बाघों के के अलावा सांभर, चीतल सहित हजारों जीव जंतु निवास करते हैं।

20 घंटे से आग बुझाने में लगे दो हेलीकॉप्टर
पिछले 2 दिनों से सेना के हेलीकॉप्टरों की मदद से आग पर काबू पाने की कोशिश की जा रही है लेकिन तापमान में बढ़ोतरी के साथ ही आग ने भी विकराल रूप धारण कर लिया है, जिसके चलते जंगल में लगी आग पर काबू नहीं पाया जा सका है। जंगल से सटे करीब 1 दर्जन से अधिक गांवों पर भी बड़ा संकट छाया हुआ है, जिसको लेकर प्रशासन भी अलर्ट है। जंगल लगातार आगे बढ़ती जा रही है, जिसे लेकर प्रशासन और ग्रामीण सजग हैं।

पहाड़ी इलाका होने के कारण तापमान पहुंचा 50 डिग्री
मार्च का महीना शुरू होते ही अलवर का तापमान 39 डिग्री तक पहुंच गया था लेकिन जंगलों में लगी आग के बाद सरिस्का में पहाड़ी इलाका होने के कारण तापमान 50 डिग्री तक पहुंच रहा है। आग ने जहां विकराल रूप धारण कर लिया है, वहीं ग्रामीणों की फसलों को भी बढ़ते तापमान से नुकसान हो रहा है।

300 से ज्यादा अधिकारी, वनकर्मी, चालक, गाइड मौके पर मौजूद
पहाड़ी इलाका होने के कारण आग पर काबू पाने में बड़ी दिक्कत होने के कारण प्रशासन के द्वारा करीब तीन सौ अधिकारी, वनकर्मी व अन्य लोग मौके पर मौजूद हैं। साथ ही आग बुझाने में गांववाले भी सहयोग कर रहे हैं ताकि आग पर जल्द से जल्द काबू पाया जा सके।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper