अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की गतिबिधियों पर नजर रख रही सुरक्षा एजेंसी

लखनऊ ब्यूरो । उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में नौ कश्मीरी छात्रों को निष्कासित करने के बाद शनिवार की सुबह से सन्नाटा पसरा हुआ है। इसके साथ ही भारत की आंतरिक सुरक्षा एजेंसी खुफिया ब्यूरो की टीम विश्वविद्यालय में हो रही गतिविधि पर नजर रखने के लिए सक्रिय हो गयी है।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय से देश विरोधी गतिविधि में शामिल रहने वाले शोध छात्र मन्नान बशीर वानी को निष्कासित कर दिया गया था। मन्नान की गतिविधि आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन से जुड़ गयी थी और वह कश्मीर में सेना के निशाने पर आ गया।

बीते दिनों उसे मुठभेड़ में मार गिराया गया, जिसके बाद अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कश्मीरी छात्रों वसीम अय्यूब मालीक, अब्दुल हसीब मीर, पीरजादा दानिश साबिर, ऐयाज अहमद भट्ट, रकीब सुल्तान, सुल्तान खान, समीउल्ला, शौकत अहमद और महबुबुल हक ने मन्नान के समर्थन में नारेबाजी की। विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक कार्रवाई करते हुए इन कश्मीरी छात्रों को निष्कासित कर दिया।

विश्वविद्यालय के छात्रावासों में रहने वाले छात्रों के बीच कश्मीरी छात्रों के निष्कासन को लेकर आक्रोश का माहौल है। इसका असर परिसर पर भी पड़ रहा है और वहां सुबह से ही सन्नाटा पसरा हुआ है। वहीं विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में कुछ वैसा ही माहौल है।
मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कश्मीरी छात्रों के प्रकरण, मन्नान की शोक सभा और देश विरोधी नारेबाजी पर विश्वविद्यालय के कुलपति और प्रशासन से जवाब तलब किया है।

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रावासों और आसपास मोहल्लो में रहने वाले छात्रों पर खुफिया ब्यूरो की नजर है। ब्यूरो के एक अधिकारी और उनकी टीम मौजूदा स्थिति के समर्थकों की जांच में जुटे हुए हैं।
विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एस किदवई की देखरेख में तीन सदस्यीय समिति मामले की जांच कर रही है और अपनी जांच रिर्पोट 72 घंटों में कुलपति को सौंपेगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper