अवैध संबंध में पति बन रहा था बाधक, प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने लगाया ठिकाने

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के सरोजनीनगर में मजदूर श्यामबाबू की हत्या उसकी पत्नी ने पड़ोस में रहने वाले अपने प्रेमी से कराई थी। यह दावा सरोजनीनगर पुलिस ने किया है। पुलिस ने इस मामले में पत्नी मंजू व उसके प्रेमी गनेशी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि मुख्य आरोपित बबलू की पुलिस को तलाश है। हत्या में प्रयुक्त चाकू सोमवार को ही पुलिस को घटनास्थल पर मिल चुका है।

पुलिस का कहना है कि श्यामबाबू पत्नी मंजू के प्रेम संबंधों में बाधा बन रहा था और अक्सर शराब पीकर उसे मारता-पीटता था। मंजू ने पुलिस को बताया कि शादी के करीब 7-8 वर्ष बाद ही श्यामबाबू नौकरी करने दुबई चला गया, जिसके बाद मंजू के संबंध सरोजनीनगर स्थित शांतिनगर निवासी मंयक से हो गए। तीन साल बाद श्यामबाबू दुबई से वापस आया, लेकिन इसके बाद भी मंजू के अवैध संबंध मयंक से बने रहे। सितम्बर माह में मयंक की श्यामबाबू की पत्नी से कहासुनी हुई थी, जिसके बाद मयंक ने मंजू से मिलना जुलना बन्द कर दिया था।

इसके बाद मंजू के अवैध संबंध पड़ोसी बबलू पुत्र फूल से हो गए और मौका पाकर श्यामबाबू की गैर मौजूदगी में बबलू अक्सर उसके घर आने जाने लगा। बाद में युवक से लड़ाई हुई तो एक नेता की गाड़ी चलाने वाले सिकन्दरपुर बंथरा निवासी कमलेश उर्फ गनेशी रावत से मदद मांगने के लिए मंजू उसके पास जाने लगी, तभी उसके संबंध गनेशी से हो गए। मंजू ने बताया कि श्याम बाबू शराब पीने का आदी होने के कारण अक्सर नशे में उसे मारता-पीटता था, जो बबलू को नागवांर लगता था। 4-5 दिन पहले श्यामबाबू ने शराब के नशे में उसे बहुत पीटा था, तभी मंजू और बबलू ने उसे रास्ते से हटाने का मन बना लिया था। इस काम के लिए मंजू ने कमलेश उर्फ गनेशी रावत से भी मदद करने को कहा। रविवार सुबह जब श्यामबाबू घर से काम के लिए निकला तो उसके जाने के बाद बबलू मंजू के पास पहुंचा।

उससे 25 हजार रुपये मांगे और कहा कि आज इसका काम तमाम कर देंगे। मंजू ने पुलिस को बताया कि जब रात में उसका पति वापस नहीं लौटा तो उसे विास हो गया कि बबलू ने काम पूरा कर दिया है। मंगलवार सुबह बबलू ने घर पहुंचकर मंजू को बताया कि उसने शराब पिलाने के बहाने श्यामबाबू को हुल्लीखेड़ा के पास सड़क किनारे ले गया, वहां श्यामबाबू को खूब शराब पिलाई और जब वह काफी नशे में हो गया तो उसने श्यामबाबू का गला चाकू से रेत दिया और वहीं शव फेंककर भाग निकला। यह सब बताने के बाद बबलू ने मंजू से कहा कि थोड़ी देर बाद 100 नम्बर डायल कर श्यामबाबू के घर न पहुंचने की सूचना पुलिस को दे देना, जिससे तुम पर कोई शक न करे। इसके बाद बब्लू वहां से चला गया था। बताते चलें कि बंथरा के हिंदू खेड़ा निवासी मजदूर श्यामबाबू (39) की गला रेतकर हत्या कर दी गयी थी।

उसका शव सोमवार सुबह सरोजनीनगर स्थित हुल्लीखेड़ा गांव के बाहर बाग में पड़ा मिला था। इस मामले में श्यामबाबू के बड़े भाई रमेश ने उसकी पत्नी मंजू और बंथरा निवासी उसके प्रेमी गनेशी रावत को नामजद किया था, जिसके तहत पुलिस ने सोमवार को मंजू और गनेशी को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने दोनों को मंगलवार को जेल भेज दिया, जबकि मुख्य आरोपित बबलू की तलाश जारी है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
Loading...
E-Paper