अवैध सम्बंधों के विरोध में छात्र ने की थी टेंट कारोबारी की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा

लखनऊ: पीजीआई में टेंट व्यवसायी राजकुमार यादव उर्फ बब्लू की हत्या अवैध संबंधों के विरोध के कारण हुई थी। हत्या का खाका किसी पेशेवर अपराधी ने नहीं बल्कि इण्टर के छात्र ने खींचा था। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त पिस्टल व बाइक बरामद की है। इस हत्याकांड का खुलासा सर्विलांस व सीसीटीवी फुटेज से के चलते हो सका है। व्यवसायी को मारने के लिए पीछा करने के दौरान आरोपित की फोटो कई सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गयी थी।

एसएसपी दीपक कुमार ने बताया कि आरोपित अभिषेक राय उर्फ बंटी उर्फ अजरुन अम्बेडकरनगर के खेमापुर का रहने वाला है। अभिषेक इण्टर का छात्र होने के साथ-साथ गिटार बजाना भी सिखाता है। उनका कहना है कि टेंट व्यवसायी के परिवार की एक महिला की रिश्तेदारी तेलीबाग में है। महिला अक्सर वहां आती-जाती रहती थी। उस दौरान अभिषेक भी तेलीबाग में ही किराए पर रहता था। वर्ष 2016 में दोनों की मुलाकात हुई और फिर दोस्ती हो गयी। दोनों की नजदीकियां बढ़ीं और फोन पर लम्बी बातें होने लगी। इस दौरान उनके बीच कई बार अवैध संबंध भी स्थापित हुए। यह देख राजकुमार ने महिला के मोबाइल पर रोक लगा दी थी। महिला से बात न कर पाने के चलते अभिषेक ने मवैया में गुन्जू यादव के मकान में किराए पर रहने लगा।

साथ ही पहचान बदलकर वह राजकुमार के घर पर आने-जाने लगा। एएसपी उत्तरी अनुराग वत्स ने बताया कि बेरोक-टोक अभिषेक व्यवसायी के घर आता-जाता था। इस दौरान राजकुमार को महिला के अवैध संबंधों की जानकारी हुई तो वह आए दिन मार-पीट करने लगा। एक दिन अभिषेक व महिला कमरे में थे। तभी राजकुमार वहां आ गया। दोनों को आपत्तिजनक स्थिति में देख उसने महिला को पीटने के साथ ही अभिषेक के साथ मारपीट की और घर में घुसने पर रोक लगा दी। प्रतिशोध में अभिषेक ने राजकुमार की हत्या की ठान ली। पहले उसने देशी पिस्टल की व्यवस्था और फिर मौका तलाशने लगा। एएसपी का कहना है कि 6 फरवरी को भी अभिषेक ने राजकुमार का पीछा किया लेकिन वह कामयाब नहीं हो सका।

उसके बाद बीते गुरुवार को अभिषेक घर के पास से ही स्कार्पियो सवार राजकुमार का पीछा करने लगा। पीजीआई स्थित मामा चौराहे के पास एकांत जगह देख अभिषेक ने फर्राटा भरा और ओवरटेक कर स्कार्पियो रोकवा ली। अभिषेक को देख राजकुमार ने स्कार्पियो रोकी। जब तक वह कुछ समझ पाता अभिषेक ड्राइविंग सीट के पास आया और पिस्टल निकालकर सीने पर गोली मार दी। सीओ कैंट तनु उपाध्याय ने बताया कि हत्या करने के बाद अभिषेक वहां से सीधे चिनहट अपने दोस्त के घर पहुंचा। वहां बाइक खड़ी कर वह अम्बेडकरनगर रवाना हो गया।

वारदात के बाद इंस्पेक्टर अरुण कुमार राय व उनकी टीम ने पड़ताल की। कई सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले गये तो एक फुटेज में बाइक सवार अभिषेक मिल गया। सीओ का कहना है कि अभिषेक की इस करतूत की जानकारी राजकुमार के परिवार की महिला को थी या नहीं? इसकी जांच की जा रही है। अगर महिला की वारदात में संलिप्तता मिलेगी तो कार्रवाई की जाएगी।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper