असम में 8 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित, खतरे के निशान से ऊपर बह रही नदियां, 6 लोगों की मौत

असम: बाढ़ की वजह से 8 लाख से ज्यादा लोगों की जिंदगी पर असर पड़ा है. यहां के 27 में से 21 जिलों में बाढ़ की वजह से हालात सामान्य नहीं हैं. अधिकारियों के मुताबिक यहां नदियां खतरे के निशान के ऊपर बह रही हैं. अब तक बाढ़ की वजह से 6 लोगों की जान जा चुकी है.

मौसम विभाग द्वारा बारिश के अनुमान के बाद फेरी सेवाओं को शुक्रवार को बंद कर दिया गया है. अधिकारियों ने बताया, ’27 हजार हेक्टेयर किसानों की भूमि बाढ़ की चपेट में है और 7 हजार से ज्यादा लोगों को 68 राहत कैंपों में शिफ्ट किया गया है.’

ऊपरी असम के धीमाजी और लखीमपुर और निचले असम के बोंगाईगांव और बारपेटा में हालाता ज्यादा खराब हैं. अधिकारियों के मुताबिक ऊपरी असम में आई बाढ़ का असर निचले स्तर पर भी हो रहा है. भूटान ने भी कई क्षेत्रों में बाढ़ की चेतावनी जारी की है. असम के स्टेट डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने कहा, ’17 जिलों में बारापेटा में हालात ज्यादा खराब हैं और यहां से 85 हजार से ज्यादा लोगों को शेल्टर में भेजा गया है.’

बाढ़ का पानी ऊपरी असम के काजीरंगा नेशनल पार्क में भी घुस गया. जिससे जानवरों को भी सुरक्षित जगह भेजने की कोशिश की जा रही है. इसके अलावा नेशनल हाईवे पर वाहनों के आने-जाने पर रोक लगाई गई है.

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper