आंगनवाड़ी महिलाओं ने ‘AAP’ कार्यकर्तार्ओं पर बदसलूकी का आरोप लगाया, राष्ट्रीय महिला आयोग ने लिया संज्ञान

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली में आंगनवाड़ी महिलाकर्मियों के धरना प्रदर्शन के बीच कुछ महिलाकर्मियों ने आम आदमी पार्टी के कार्यकतार्ओं पर बदसलूकी करने का आरोप लगाया है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने मामले का संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस भी जारी कर दिया है। आंगनवाड़ी महिलाओं ने मुताबिक, आम आदमी पार्टी के कुछ लोगों ने महिला कर्मियों के साथ दिल्ली स्थित जोहरीपुर में आप दफ्तर के बाहर बदसलूकी की, उन्होंने इस मसले पर मुकदमा दर्ज कराया है और आज वो फिर थाने जाएंगी।

राष्ट्रीय महिला आयोग अध्यक्ष रेखा शर्मा ने दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना को पत्र लिख मामले की जांच करने और दोषियों पर मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही करने को कहा है। इसके अलावा आयोग ने इस घटना पर क्या कार्यवाही की गई उसकी रिपोर्ट 7 दिन में भेजने के लिए कहा है। दरअसल आंगनवाड़ी महिलाएँ बीते 17 दिनों से अपना प्रदर्शन कर रही हैं। प्रदर्शनकारियों के मुताबिक, कोरोना महामारी में अपनी जान की फिक्र किये बिना हमने काम किया लेकिन सरकार अब हमारे बारे में नहीं सोच रही। इससे पहले राहुल गांधी ने भी इस मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा था।

जानकारी के अनुसार, वर्तमान में दिल्ली के आंगनवाड़ी केंद्रों में लगभग 22 हजार कार्यकर्ता और सहायिका कार्यरत हैं, जिसमें आंगनवाड़ी कार्यकतार्ओं को 9,678 रुपये मासिक मानदेय और सहायिकाओं को 4,839 रुपये का मानदेय मिलता है। ये मानदेय 2017 में हड़ताल के बाद क्रमश: 5000 रुपये और 2,500 रुपये से बढ़ाया गया था। हालांकि प्रदर्शनकारियों की मांग है कि, आंगनवाड़ी कार्यकताओं को 25 हजार रुपये और हेल्पर्स को 20 हजार रुपये मासिक मानदेय दिया जाए।

31 जनवरी 2022 से राष्ट्रीय राजधानी में करीब 22,000 से ज्यादा आंगनवाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर्स मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निवास स्थान के नीचे धरना प्रदर्शन कर रही हैं। उनकी मांग यह है कि हेल्पर्स की मासिक आय 20,000 तक बढ़ाई जाए जो की वर्तमान में 3900 से लेकर 4800 रुपए है। नई दिल्ली में 800 से ज्यादा प्रोजेक्ट्स हैं, प्रत्येक प्रोजेक्ट में एक हेल्पर और एक वर्कर है।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... -------------------------
--------------------------------------------------- -------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper