आईईडी का प्रयोग करके आरएसएस नेताओं पर हमला कर सकते हैं आतंकी, आईबी की रिपोर्ट के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा

नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेता और उनके कार्यालय आतंकियों के निशाने पर हैं। इस रिपोर्ट के बाद आरएसएस नेताओं व उनके कार्यालयों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इंटेलिजेंस की रिपोर्ट में दावा किया गया कि पंजाब, राजस्थान, महाराष्ट्र में रहने वाले आरएसएस नेताओं पर आतंकी हमला कर सकते हैं। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि आतंकी संगठन अपनी वारदात को अंजाम देने के लिए आईईडी का भी प्रयोग कर सकते हैं। आईबी ने संबंधित राज्य सरकारों से खतरे को देखते हुए सुरक्षा के कड़ी करने के लिए कहा है।

सूत्रों ने दावा किया है कि सतर्कता ने सभी संबंधित राज्य सरकारों को सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाने को कहा। एक शीर्ष अधिकारी ने दावा किया कि महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, यूपी और असम राज्यों में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। पदाधिकारियों की सुरक्षा की भी समीक्षा की जा रही है।

बता दें कि आरएसएस के कार्यकर्ताओं पर कई हमलों की खबर सामने आई थी। पिछले महीने बेंगलुरू पुलिस ने संघ के एक्टिविस्ट की हत्या की साजिश के आरोप में छह आरोपियों को गिरफ्तार किया था। जानकारी के अनुसार संघ का यह एक्टिविस्ट नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में आयोजित रैली में हिस्सा लेने के लिए पिछले वर्ष दिसंबर माह में गया था।

नोट: अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया The Lucknow Tribune के  Facebook  पेज को Like व Twitter पर Follow करना न भूलें... ---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
--------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------- --------------------------------------------------------------------------------------------------
-------------------------------------------------------------------------------------------------------------
---------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------------
E-Paper